रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग के मुख्य सूचना आयुक्त एम.के. राउत ने आज राज्य सूचना आयुक्त ए.के. सिंह के पदमुक्त होने के अवसर पर आयोजित बिदाई समारोह में कहा कि ज्ञान का भण्डारण करने से इसकी उपयोगिता नहीं रहती, बल्कि ज्ञान बांटने से ज्ञान बढ़ता है। उन्होंने कहा कि श्री सिंह आयोग में रहते हुए कानून के तहत लोगों को न्याय देने का कार्य करते रहे और उन्होंने कभी किसी के दबाव में कार्य नहीं किया। कानून की परिधि में रहकर प्राकृतिक न्याय का पालन करते हुए न्याय देने में अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन किया। 
श्री राउत ने कहा कि राज्य सूचना आयुक्त श्री सिंह के द्वारा सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के तहत द्वितीय अपील के प्रकरणों में कानून का अक्षर सह पालन करते हुए पीड़ित पक्ष को समय-सीमा में जानकारी उपलब्ध नहीं कराने पर उन्होंने क्षतिपूर्ति और अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए शासन को अनुशंसा करते थे, जिसके कारण कई विभाग के अधिकारी उनसे नाराजगी व्यक्त करते थे। मुख्य सूचना आयुक्त श्री राउत ने कहा कि लगभग पांच वर्ष के कार्यकाल में श्री सिंह ने सर्वाधिक आवेदनों पर आदेश पारित कर निराकरण किया। उन्हें जिस कार्य के लिए शासन ने नियुक्त किया था उसका जिम्मेदारीपूर्ण निर्वहन करने में श्री सिंह कामयाब रहे। 
राज्य सूचना आयुक्त के पद से मुक्त हो रहे ए.के. सिंह ने कहा कि शासन ने जो जिम्मेदारी मुझे सौंपा था, उसे बखूबी पूरा किया और शासन की अपेक्षाओं में खरा उतरने प्रयास किया। उन्होंने कहा कि जो लोगों से बुराई नहीं ले सकता वह प्रशासनिक पदों पर काम ना करें। श्री सिंह ने कहा कि कोई भी कार्य दुर्भावनावश ना करते हुए पद के अनुरूप नियम के तहत जिम्मेदारी का पूर्ण निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि आयोग में कार्य करते समय आयोग के अधिकारी और कर्मचारियों ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की, जिससे आयोग का कार्य संतोषजनक ढंग से सम्पादित किया जा सका। आयोग का ढांचा मजबूत करने में यहां के अधिकारी-कर्मचारियों का महत्वपूर्ण योगदान है और यहां कार्य करते हुए अपनापन महसूस किया। 
राज्य सूचना आयुक्त मोहन पवार और अशोक अग्रवाल, सचिव छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग संजय दीवान, संयुक्त संचालक धंनजय राठौर ने भी इस अवसर पर अपना विचार व्यक्त किया। कार्यक्रम के अंतिम में राज्य सूचना आयुक्त के पद से मुक्त हो रहे ए.के. सिंह को आयोग की तरफ से शॉल, श्रीफल और स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। कार्यक्रम का संचालन स्टॉफ ऑफिसर ए.के. सिंह और आभार प्रदर्शन स्टॉफ ऑफिसर एम. कल्याणी ने किया। 
इस अवसर पर उप सचिव छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग डॉ. स्निग्धा तिवारी, स्टॉफ ऑफिसर अशोक तिवारी, वित्त अधिकारी आर.के. रावटे, अनुभाग अधिकारी सहित बड़ी संख्या में अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।