जबलपुरः मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक बार फिर टूरिस्ट सर्किट बनाने की चर्चाएं जोर पकड़ने लगी हैं. जिलाधिकारी भरत यादव ने भेड़ाघाट और आसपास के क्षेत्रों को मिलाकर टूरिस्ट सर्किट बनाने और इसके प्रचार-प्रसार पर जोर दिया. भेड़ाघाट, लम्हेटाघाट, गोपालपुर, न्यू भेड़ाघाट, लम्हेटी स्थित धार्मिक स्थलों, मंदिरों के अलावा आसपास और भी कई दर्शनीय स्थल हैं, मगर इन स्थलों के प्रति पर्यटकों को लुभाने के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं हुए हैं. टूरिस्ट सर्किट बनाने की बात कई बार सामने आ चुकी है और अब एक बार फिर टूरिस्ट सर्किट बनाने की बात चली है. इसके लिए जिला प्रशासन प्रयासरत है. 

जिलाधिकारी भरत यादव गुरुवार को स्थानीय अधिकारियों के साथ बैठक की और स्थल निरीक्षण करने के बाद कहा कि भेड़ाघाट, लम्हेटाघाट, गोपालपुर, न्यू भेड़ाघाट, लम्हेटी स्थित धार्मिक स्थलों, मंदिरों तथा आसपास के सभी दर्शनीय स्थलों को टूरिस्ट रूट में शामिल कर इन पर्यटन स्थलों के बारे में एक बुकलेट भी तैयार की जाए. उन्होंने कहा कि इन पर्यटन स्थलों का व्यापक प्रचार प्रसार भी किया जाना चाहिए. साथ ही पर्यटकों को इन स्थानों का भ्रमण कराने के लिए स्थानीय युवाओं को गाइड के रूप में तैयार किया जाए, इसके लिए उन्हें प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए. 
यादव का मानना है कि भेड़ाघाट के आसपास स्थित सभी धार्मिक एवं पर्यटन स्थलों को मिलाकर टूरिस्ट सर्किट बनाने तथा इसका एक पैकेज के रूप में प्रचार-प्रसार किया जाए. ऐसा करने से यहां ज्यादा संख्या में पर्यटक आकर्षित होंगे तथा स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे. जिला प्रशासन पर्यटन की दृष्टि से इन स्थलों के विकास की पीपीपी मोड पर योजना बनाने का विचार कर रहा है, जिसे जबलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा आयोजित की जाने वाली इन्वेस्टर्स मीट में रखने की तैयारी है. 
इसके अलावा भेड़ाघाट में लेजर शो दिन में शुरू किए जाने के प्रयास होंगे. पर्यटन के कारोबार से जुड़े लोगों का कहना है कि जबलपुर में भेड़ाघाट को जोड़कर टूरिस्ट सर्किट विकसित करने की कई बार चर्चाएं हुईं, मगर अब तक उस पर अमल नहीं हो पाया है. एक बार फिर चर्चा ने जोर पकड़ा है, यह चर्चा सिर्फ चर्चा रहती है या बात आगे बढ़ेगी, यह बड़ा सवाल है.