लंदन । रोमानिया की टेनिस सनसनी सिमोना हालेप ने महिला एकल टेनिस के फाइनल में प्रमुख दावेदार सेरेना विलियम्स को हराकर अपने करियर का पहला विंबलडन खिताब जीता। 56 मिनट तक चले मुकाबले में 27 साल की हालेप ने सेरेना को 6-2, 6-2 से हराया।  इस हार के साथ सेरेना का 24वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने का सपना एक बार फिर टूट गया। सात बार की विंबलडन चैंपियन सेरेना ने अपना आखिरी ग्रैंडस्लैम 2017 में ऑस्ट्रेलियन ओपन के तौर पर जीता था। वह दिग्गज मारगारेट कोर्ट के ऑलटाइम 24 ग्रैंड स्लैम खिताब के रेकॉर्ड की बराबरी करने से एक बार फिर चूक गईं।
दुनिया की पूर्व नंबर-1 महिला टेनिस प्लेयर हालेप के करियर का यह दूसरा ग्रैंड स्लैम खिताब है। उन्होंने पिछले साल फ्रेंच ओपन भी जीता था। खिताब जीतने के बाद हालेप ने कहा, 'यह मेरी मां का सपना था कि मैं विंबलडन फाइनल में खेलूं। जब मैं 10-12 साल की थी, तब उन्होंने मुझसे कहा था कि अगर टेनिस में कुछ करना चाहती हो तो विंबलडन फाइनल में खेलना। मैंने टूर्नमेंट की शुरुआत में कहा था कि मैं जीतकर इस क्लब की लाइफटाइम मेंबर बनना चाहती हूं।' मैच के दौरान सेरेना ने 26 सहज गलतियां की जिसका उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ा जबकि हालेप ने केवल दो ही गलतियां कीं। वह तीसरी बार ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंची लेकिन रेकॉर्ड की बराबरी करने से चूक गईं। वह पिछले साल विंबलडन के फाइनल में एंजेलिक कर्बर से और यूएस ओपन के फाइनल में नाओमी ओसाका से हार गई थीं।