लंदन । विश्व कप क्रिकेट सेमीफाइनल मैच में भारतीय टीम की हार के साथ ही पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास को लेकर फिर सवाल उठे हैं। कप्तान विराट कोहली जब संवाददाता सम्मेलन में आए तो यह सवाल एक बार फिर उठा। विराट ने हालांकि धोनी के संन्यास के सवाल पर कहा, "नहीं, उन्होंने अभी तक हमें इस बारे में नहीं बताया है।" कोहली से जब पूछा गया कि सेमीफाइनल में धोनी को हार्दिक पांड्या के बाद क्यों भेजा गया तो कप्तान ने कहा, "कुछ मैचों के बाद उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी गई थी कि अगर मैच में स्थिति खराब होती है तो वह एक छोर संभाले रखेंगे जैसा कि उन्होंने आज किया। या अगर ऐसी स्थिति बनती है कि छह-सात ओवर बचे हों तो वह बड़े शॉट्स के लिए जा सकते हैं।"
विश्व कप में धोनी की स्ट्राइक रेट को लेकर हमेशा सवाल उठते रहे हैं। इसपर विराट ने सेमीफाइनल में धोनी की बल्लेबाजी पर कहा, "बाहर से देखना हमेशा से आसान रहा है। हम कहते हैं कि यह हो सकता था वो हो सकता था लेकिन आज वह जडेजा के साथ बल्लेबाजी कर रहे थे और उनके बाद भुवनेश्वर कुमार को बल्लेबाजी करने आना था। इसलिए धोनी का एक छोर संभालना जरूरी था क्योंकि दूसरे छोर से जडेजा अच्छा खेल रहे थे।"
कप्तान ने कहा, "आपको एक मजबूत साझेदारी चाहिए होती है और खराब स्थिति से 100 रनों की साझेदारी करना बेहतरीन है। मुझे लगता है कि एक खिलाड़ी एक छोर पर आराम से खेले और एक छोर से तेजी से रन बनाए, ऐसा करने से सही संतुलन बनता है।" धोनी ने इस मैच में 72 गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की मदद से 50 रन बनाए। उनके आउट होने के बाद से मैच भारत के हाथ से निकल गया।