गाडरवारा । साहित्य सृजन परिषद की मासिक काव्य गोष्ठी वरिष्ठ कवि महेष नेमा की अध्यक्षता में श्री सार्वजनिक पुस्तकालय गाडरवारा के तिलक भवन में आयोजित की गई। मां सरस्वती के चरण वंदन, पूजन-अर्चन पश्चात् गोष्ठी अध्यक्ष के पुष्पहार से स्वागत उपरांत गोष्ठी संचालक युवा कवि विवके दीक्षित ‘स्वतंत्र‘ द्वारा सरस्वती वंदना हेतु वरिष्ठ कवि सुरेष दुबे को आहूत किया जिन्होंने सस्वर वंदना प्रस्तुत की।
पावस गोष्ठी के प्रथम क्रम में कुलदीप शर्मा कौड़िया द्वारा गोष्टी का आगाज किया गया। तत्पश्चात् कवि वृन्दावन बैरागी ‘कृष्णा‘ कौड़िया, सारिक खान, राजेन्द्र राय, मलखानसिंह मेहरा, गोविन्द गलीज कौड़िया, सुरेष दुबे, सी.एल. विष्वकर्मा, रोहित रमन, विवके दीक्षित ‘स्वतंत्र‘, कमलेष भार्गव ने अपने-अपने फन की रचनायें प्रस्तुत कर गोष्ठी को गुलदस्ते का स्वरूप प्रदान किया। वरिष्ठ साहित्यकार एवं पत्रकार रविन्द्र वर्मा द्वारा अपने उद्बोधन में परिषद की सक्रियता एवं उपस्थिति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए साहित्य सृजन परिषद की गोष्ठियों की निरंतरता दर्षाने हेतु पायदान की क्रमबद्धता भी उल्लेखित किया जाना उचित होगा। गोष्ठी अध्यक्ष महेष नेमा द्वारा रचनापाठक कर गरिमामय उद्बोधन दिया गया। परिषद अध्यक्ष रोहित रमन ने उपस्थितजनों का आभार प्रकट करते हुए साहित्यिक मित्रों से गोष्टी को सफल बनाने हेतु सहयोग की आकांक्षा की।