जगदलपुर। राज्य भर के सारे फोटोग्राफर-विडियोग्राफर अब संगठित होने जा रहे हैं, जिसके लिए लम्बे समय से विचार-विमर्ष हो रहा था ।  इस विषय को लेकर राज्य के अलग-अलग जिलो के छायाचित्रकार छत्तीसगढ़ फोटोग्राफर वेलफेयर एसोसिएशन रायपुर के शिवराम चन्द्राकर और भीष्म देव यादव के आव्हान पर रायपुर में एक स्थानीय होटल में बैठक में शामिल हुए । उद्येष्य था, राज्य के सभी छायाचित्रकारों को सम्मान के साथ अपना व्यवसाय करने का सुलभ अवसर प्राप्त हो सके । समय-समय पर नई तकनीकी से छायाचित्रकारों को अवगत कराना और ग्राहकों को उत्कृष्ठ सेवा देना । साथ ही फोटोग्राफरों और विडियोग्राफरों के हितों की रक्षा हो और आर्थिक स्वावलम्बन को गति मिल सके । इस दिषा में विभिन्न जिलों से आए अन्य वरिष्ठ छायाचित्रकारों ने अपने महत्वपूर्ण विचार रखे । एक रूपरेखा तैयार की गई कि किस तरह फोटोग्राफी पेषे को छत्तीसगढ़ में नई टेक्नालाॅजी के साथ उन्नत बनाया जावे । साथ ही कलात्मक मापदण्डों को स्थापित करते हुए जिले, राज्य और देष में सम्मानीय छायाचित्रकारों को यथोचित मान-सम्मान दिलाया जाए, जिसके वो वास्तविक हकदार हैं । 
प्रारंभिक स्तर में सभी जिलों में फोटोग्राफर-विडियोग्राफर इकाइयों का गठन किया जावेगा । राज्य स्तर पर सुदृढ़ एसोसियेषन का गठन कर इकाइयों को आत्मनिर्भर बनाने और उनके अधिकारों को स्थान दिलाने में उचित मार्गदर्षन दिया जावेगा, जिसमें जानकार वरिष्ठ छायाचित्रकारों-विडियोग्राफरों की सेवाएं निहित होंगी । इकाइयों के गठन के लिए पांच संभागीय समन्वयक मनोनीत किए गए, सरगुजा से अभिनव गुप्ता, बिलासपुर से दिलीप सिंह राजपूत, दुर्ग से पप्पू मलिक, रायपुर से षिव चन्द्राकर और बस्तर से सत्यजीत भट्टाचार्य ।आगामी दिनों में फोटोग्राफर सेमीनार, फोटो वर्कषाप, फोटो प्रतियोगिता और बैठकों को आयोजित करने का निर्णय लिया गया । इस अवसर पर प्रदेष के ख्यातिलब्ध छायाचित्रकार उपस्थित थे, जिनमें प्रमुख रूप से  शिव चन्द्राकर, भीष्म देव यादव, मोहित चन्द्राकर, कौषल राजपूत, गुड्डु कुमार, रामकृष्ण पंचायती, अभिनव गुप्ता, नितिन यादव, राजा सिंह ठाकुर, श्रवण कुमार चैहान, नन्दू भैय्या, आलोक प्रधान, रजत सरकार, पुरूषोत्तम जायसवाल, डिगेष दास, भूपेन्द्र साहू, योगेष साहू, संजय दुबे, श्याम साहू, रमेष यादव और सत्यजीत भट्टाचार्य।