बिलासपुर । आर्टिकल 15 फिल्म की अंतराष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ ने विरोध किया है। महासंघ का कहना है कि इस फिल्म में बदायू घटना को लेकर ब्राम्हण समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाया गया है। आज ब्राम्हण समाज ने जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर फिल्म के प्रदर्श पर रोक लगाने की मांग की है। समाज के लोगों ने ३६ माल व मेग्नेटो माल के प्रबंधन को भी पत्र सौंपकर मल्टीफैलेक्स में प्रदर्शन नहीं करना का पक्ष रखा है। जिला प्रशासन ने कहा है कि प्रदेश स्तर पर कल होने वाली इस फिल्म के रिलीज को लेकर चर्चा हो रही है संभावना है कि विरोध को देखते हुए इस फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लग सकती है। अंतराष्ट्रीय ब्राम्हण महासंघ के जिलाध्यक्ष संतोष दुबे उपाध्यक्ष मयंम शुक्ला, राकेश्ज्ञ पाण्डेय आदि ने आज जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर कहा है कि आयुषमान खुराना निर्देशित फिल्म आर्टिकल १५ में ब्राम्हण समाज को आहत करने वाले दृश्य दिखाया गया है। बदायू की घटना का फिल्मांकन में ब्राम्हण समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाया गया है। ब्राम्हण समाज ने जिला प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा है कि इस फिल्म में उन दृश्यों को हटाया जाए जिसमें ब्राम्हण समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाया गया है। समाज ने कहा है कि यदि फिल्म रिलीज होगी तो ब्राम्हण समाज आंदोलन करेगा, जिसकी जवाबदारी जिला प्रशासन होगी।