★ आरोपीगणों से 15 अवैध हथियार एवं 03 जिंदा कारतूस बरामद।

 ★ उ0प्र0 का रहने वाला तस्कर थोक में कारतूस लेकर आता था इंदौर, सिकलीगरों से कारतूस के बदले लेता था अवैध हथियार।

★ राजस्थान तथा उत्तरप्रदेश के बडे़ बड़े बाहुबलियों के गुर्गों को अवैध हथियार सप्लाय करता था तस्कर।

★ आरोपियों से बरामद हथियारों में पिस्टल, कट्टे व रिवाल्वर हैं शामिल।

★ खरगौन का सिकलीगर अवैध हथियार बनाकर, बेचने के लिये करता था तस्करों के सुपुर्द।

       शहर इंदौर में हो रही अवैध हथियारो की खरीद/फरोख्त, परिवहन व उनके विनिर्माण को रोकने के लिये तथा ऐसे कृत्यों में लिप्त आरोंपियों की धरपकड़ कर उन पर विधिसंगत कार्यवाही करने हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमती रूचिवर्धन (शहर) द्वारा इंदौर पुलिस को निर्देशित किया गया था। उक्त निर्देशो के पालन में पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) श्री अवधेश गोस्वामी के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (क्राईम) श्री अमरेन्द्र सिंह के द्वारा क्राईम ब्रांच की टीम को इस बिन्दु पर योजनाबद्ध तरीके से कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया था।

क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबिर तंत्र के माध्यम से सूचना मिली थी कि सरदार के जैसे  हुलिये का एक व्यक्ति, सोयाबीन अनुसंधान केन्द्र के पास भवंरकुआ क्षेत्र में अवैध पिस्टल व कट्टे बेचने के लिये घूम रहा है इसके अलावा एक अन्य व्यक्ति थाना आजादनगर क्षेत्र में भी अवैध हथियार की सप्लाय देने के लिये ग्राहक का इंतजार कर रहा है। सूचना विश्वसनीय होने से क्राईम ब्रांच की 01 टीम थाना भंवरकुआं रवाना हुई तथा क्राईम ब्रांच की दूसरी पार्टी थाना आजादनगर क्षेत्र में कार्यवाही हेतु रवाना हुई। इसी तारतम्य में क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा थाना भवंरकुआ पुलिस के साथ संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुये मुताबिक सूचना के सोयाबीन अनुसंधान केन्द्र के पास पेट्रोलिंग की तो एक व्यक्ति पुलिस को देखकर, भागने का प्रयास करने लगा जिसका हुलिया प्राप्त सूचना के मुताबिक मेलजोल खा रहा था बाद भाग रहे व्यक्ति को पुलिस टीम ने घेराबंदी कर पकड़ा जिसने अपना नाम (1) नानक पिता गुरुदेव सिंह उम्र 26 साल निवासी ग्राम सिगनुर थाना गोगांवा जिला खरगोन का होना बताया। आरोपी की संदेह के आधार पर मौके पर तलाशी ली गई तो उसकी कमर के ओर एक पिस्टल मय मैगजीन में लगे हुये जिंदा कारतूस सहित बरामद हुई तथा दूसरी ओर कमर में से दो पिस्टल बरामद हुई, बाद नानक सिंह के पास उसके थैले की तलाशी लेने पर चार देशी कट्टे बरामद हुये।


          आरोपी से मौके से तीन देशी पिस्टल व चार देशी कट्टे सहित कुल 07 अवैध हथियार व एक जिंदा कारतूस बरामद हुये जिस पर से आरोपी का कृत्य धारा 25, 27 आर्म्स एक्ट से दंडनीय होने से आरोपी को गिरफ्तार कर थाना भवंरकुआ में अपराध क्रमांक - 479/19 कायम किया गया।


          इसी अनुक्रम में क्राईम ब्रांच टीम की दूसरी पार्टी ने थाना आजादनगर पुलिस के साथ संयुक्त कार्यवाही करते हुये  नेमावर रोड से (2) अभय चौहान उर्फ अजय कुमार पिता ओमकार सिंह उम्र 36 साल नि. ग्राम बझेरा जिला मैनपुरी उत्तरप्रेदश को धरदबोचा जिसकी तलाशी लेने पर उसके कब्जे से चार पिस्टल मय मैगजीन, तीन देशी कट्टे व एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ। बाद आरोपी अभय चौहान के विरूद्ध थाना आजादनगर मे अपराध क्रमाँक 300/19 धारा 25,27 आर्म्स एक्ट के तहत पंजीबद्ध किया जाकर आरोपी को विधिवत् गिरफ्तार किया गया। 

          उपरोक्त आरोपीगणों से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि उन्होंनें चंदननगर निवासी सलमान पिता गनी शाह नामक व्यक्ति को भी एक अवैध पिस्टल व जिंदा कारतूस बेचा है। बाद क्राईम ब्रांच की टीम ने थाना चंदननगर पुलिस के साथ संयुक्त कार्यवाही कर आरोपी (3) सलमान पिता गनी शाह उम्र 25 साल नि. बब्बू नेता की गली चंदननगर इंदौर को गिरफ्त में लिया। जिसके कब्जे से एक देशी पिस्टल मय मैगजीन में लगे जिंदा कारतूस सहित बरामद हुई। आरेापी सलमान के विरूद्ध थाना चदंननगर में अपराध क्रमांक 658/19 धारा 25,27 आर्म्स एक्ट के तहत पंजीबद्ध किया गया है।


         आरोपी नानक पिता गुरुदेव ने पूछताछ में बताया कि वह कक्षा 5 वीं तक पढ़ा है तथा मूलतः खरगौन का रहने वाला है। आरोपी ने बताया कि उसके पिता गुरुदेव सिंह भी पूर्व में हथियार बनाने का काम करते थे जोकि थाना बडवाह, गोगांवा व मेनगाँव पुलिस की कार्यवाहियों में पूर्व में हथियार बनाने के जुर्म में पकड़े जाकर जेल में निरूद्ध किया जा चुके हैं। आरोपी नानक ने बताया कि उसने अपने पिता गुरूदेव सिंह से हथियार बनाना सीखा था तथा लम्बे समय से अवैध रूप से हथियार बनाकर कई राज्यों के तस्करों को सप्लाय करता था। आरोपी ने बताया कि उत्तरप्रदेश व राजस्थान के कई तस्कर उससे हथियार खरीदने आते रहते हैं जोकि उससे थोक में हथियार ले जाकर अन्य राज्यों में मोटे दामों में खेरीज में बेच देते हैं। आरोपी नानक स्वयं भी पूर्व में थाना बड़वाह पुलिस की कार्यवाही में अवैध हथियार बेचने के जुर्म में पकड़ा जा चुका है। 


         आरोपी अभय चौहान उर्फ अजय ने बताया कि वह कक्षा 10वीं तक पढ़ा है तथा जिला मैनपुरी उत्तरप्रेदश का रहने वाला है। आरोपी अभय, विभिन्न राज्यो में अवैध हथियार सप्लाय करने का काम लम्बे समय से कर रहा है। आरोपी ने यह भी बताया कि वह उत्तरप्रदेश व राजस्थान में कई बडे़ बडे बाहुबलियों को दर्जनों हथियार सप्लाय कर चुका है। आरोपी अभय चौहान पूर्व में वर्ष 2018 में राजस्थान के बगरु थाने में चार पिस्टल सहित पकड़ा जा चुका है। जेल से छूटने के बाद फिर से हथियार डिलीवरी करने का काम करने लगा था। आरोपी ने खुलासा किया कि उत्तरप्रदेश में हथियारों के कारतूस काफी सस्ते दामों में मिल जाते हैं इसलिये वह उ0प्र0 से सैकड़ों कारतूस लाकर, सिकलीगर नानक सिंह को देता था तथा उसके बदले मे अवैध हथियार लेकर जाता था। आरेापी सिकलीगर नानक उपरोक्त कारतूसों को अवैध हथियारों के साथ मंहगें दामों में बेचता था। आरोपी अभय चौहान के आपराधिक रिकार्ड को भी उ0प्र0 पुलिस से समन्वय स्थापित कर ज्ञात किया जा रहा हैं।


         आरोपी सलमान चंदननगर का रहने वाला है तथा फ्रूट का ठेला लगाता है। आरोपी सलमान के उपर लड़ाई झगड़े, चाकूबाजी, हत्या का प्रयास, डकैती की योजना, आर्म्स एक्ट जैसे दर्जन भर से अधिक अपराध पंजीबध्द है। 

         उपरोक्त तीनों आरोपीगणों से कुल 15 अवैध हथियार व 03 जिंदा कारतूस बरामद हुये गये हैं। आरोपीगणों ने अन्य किन किन लोगों को अवैध हथियार बेचे हैं इस संबंध में विस्तृत पूछताछ कर बडे़ गिरोह के पकड़ में आने की संभावना है।