राजधानी भोपाल के बैरागढ़ थाना अंतर्गत कथित रूप से पुलिस की पिटाई से हुई युवक की मौत की परिस्थितियों और सम्पूर्ण घटनाक्रम की न्यायिक जाँच की प्रक्रिया आज से प्रारंभ हो गई है। डॉक्टर्स द्वारा मृतक श्री शिवम मिश्रा के परिजनों की मौजूदगी में किये गए पोस्टमार्टम में 18-19 जून की दरम्यानी रात श्री शिवम की मृत्यु हार्ट अटैक से होने की प्रारंभिक रिपोर्ट आई है।

मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने इस घटना को गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर तत्काल 5 पुलिस कर्मियों को निलंबित कर प्रकरण की न्यायिक जाँच के आदेश जारी किए गए।

पूरे घटनाक्रम के चश्मदीद गवाह श्री लोकेश आसवानी ने भी बताया है कि कार बीआरटीएस कॉरिडोर से इतनी तेजी से टकराई कि टक्कर से 8 रेलिंग टूटकर सड़क के दूसरी तरफ गिरी जिससे चश्मदीद गवाह श्री आसवानी के वाहन को भी क्षति पहुँची। श्री आसवानी ने बताया कि कार लगभग 110-120 की स्पीड से कार चल रही थी। उस समय कार में दो युवक और एक युवती भी सवार थे। पुलिस श्री आसवानी की रिपोर्ट पर भी कार्यवाही कर रही है। बैरागढ़ निवासी श्री नरेश वासवानी ने भी इस घटना की पुष्टि की है।

उल्लेखनीय है कि घटना की सूचना मिलने पर बैरागढ़ थाने के 2 कर्मी घटना स्थल पर डायल 100 से पहुँचे थे, जहाँ लगभग दो-ढाई सौ लोगों की भीड़ युवकों के साथ मारपीट कर रही थी। पुलिस दोनों को भीड़ से बचाकर स्थानीय अस्पताल में परीक्षण के बाद थाने लाई थी, रात करीब दो बजे अचानक युवक को चक्कर आकर गिरने पर पुलिस उसे फिर अस्पताल ले गई जहाँ डॉक्टर्स ने श्री मिश्र को मृत घोषित कर दिया। परिजन के आरोप के बाद कल ही 5 पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया था।