अब 21 जुलाई से इंग्लैंड में होने वाली ट्राइ सीरीज के लिए बीसीसीआई ने अंडर-19 भारतीय टीम की घोषणा कर दी है। इसमें उत्तर प्रदेश के चार खिलाड़ियों को जगह मिली है। ये चारों हैं मेरठ के प्रियम गर्ग, पूर्णांक त्यागी और समीर रिजवी के साथ ही मुरादाबाद के ध्रुव जुयाल। प्रियम गर्ग इंग्लैंड दौरे के लिए अंडर-19 टीम के कप्तान होंगे। इस टूर्नामेंट में इंग्लैंड, बांग्लादेश और भारतीय टीम हिस्सा लेंगी।
‘प्रियम’
मेरठ के परीक्षितगढ़ निवासी बल्लेबाज प्रियम गर्ग रणजी सहित अन्य टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रियम गर्ग नाम से जरूर प्रियम हो, लेकिन उसकी बल्लेबाजी देखकर विरोधी टीम समझ लेता है कि वो उनके लिए प्रियम नहीं रह सकता है। प्रियम ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने परिवार और कोच संजय रस्तोगी को दिया है।
समीर 
बेगमपुल निवासी 16 साल के समीर रिजवी जब 7 साल के थे तो उनके मामा तनकीब उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए ले जाते थे। इस खेल की बारीकियां समझाते थे। इसके बाद उन्होंने ज्यादा से ज्यादा समय क्रिकेट को देना शुरू कर दिया। सुबह से लेकर शाम तक सिर्फ क्रिकेट ही क्रिकेट दिमाग में चलता रहता है। उनके चयन के बाद पूरे परिवार में खुशी है। 
पूर्णांक
सोमदत्त विहार के रहने वाले पूर्णांक त्यागी दायें हाथ के गेंदबाज हैं। उनकी तेज गेंदबाजी ने अच्छे अच्छे बल्लेबाजों को परेशान कर दिया है। उन्होंने बल्लेबाजी में भी खुद को कई बार साबित किया है। पूर्णांक भुवनेश्वर और प्रवीण कुमार को अपना आदर्श मानते हैं। पूर्णांक को पिता ने शुरू से क्रिकेटर बनाने का सपना देखा। पूर्णांक ने कहा कि कोच संजय रस्तोगी से उन्होंने गेंदबाजी के गुर सीखे हैं। पूर्णांक त्यागी के चयन से उनके परिवार में जश्न का माहौल है।
ध्रुव 
आगरा के रहने वाले ध्रुव जुरैल का चयन टीम में विकेट कीपर के रूप में हुआ है वह अपनी आतिशी बल्लेबाजी के लिए भी जाने जाते हैं। पिछले साल ही ध्रुव ने दिल्ली,आगरा और मघ्य प्रदेश के बीच हुई टी-20 त्रिकोणीय सीरीज के एक मैच में 21 गेदों मे 100 रन बनाए थे। वह वर्ष 2015-16 में उत्तरप्रदेश की ओर से अंडर-16 विजय मर्चेंट टॉफी भी खेल चुके हैं। 2014 में पूरे देश की स्कूली टीम केबीच खेले गए मैचों में ध्रुव ने 6 मैचों में 600 से अधिक रन बनाकर अपने कैरियर की शानदार शुरुआत की थी।