जबलपुर। भेड़ाघाट ग्राम बहदन में नहर के पास एक युवक की अंधी हत्या का राज फाश कर दिया। त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग हत्या की वजह रहा है। प्रेमिका की शादी हो चुकी थी उसके बाद भी उसका लव अफेयर राजेश से चलता रहा। इसी बीच राजेश के एक दोस्त का दिल प्रेमिका पर आ गया। राजेश को रास्ते से हटाने के लिये अपने  दूसरे प्रेमी के साथ योजनाबद्ध तरीके से राजेश पटेल की हत्या कर दी। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त चाकू मोटर सायकिल घटना के वक्त पहने हुये कपड़े व खून से सने दो पत्थर जब्त कर लिये है। पुलिस ने इस सिलसिले में प्रेमी, प्रेमिका और उसके बचपन के साथी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक अमित सिह ने बताया कि ११ जून की दोपहर ३ बजे शास्त्रीय नगर निवासी राजेश पटेल की लाश ग्राम बहदन में नहर के पास मिली थी। राजेश की गुमशुदगी उसकी मां ने तिलवारा थाने में कराई थी। घटना स्थल पर खून से सने दो पत्थर मिले थे जिसमे हत्या की आशंका शुरु से ही बताई जा रही थी।
rशादी के १० दिन बाद ही पति को छोड़ दिया था.........
पुलिस को पूछताछ  में पता चला कि अंजली बर्मन की शादी घंसैर निवासी अनिल नेमा से  नवम्बर २०१८ में हुई थी, शादी के १०-१२ दिन बाद अंजली बर्मन पति को छोडकर आदर्श नगर ग्वारीघाट में रहने लगी थी, इसी बीच अंजली बर्मन की राजेश पटेल  से मुलाकात हुई, दोनो की आपस में बातचीत होने लगी तथा राजेश पटेल अंजली उर्फ बबली बर्मन से प्यार करने लगाए एवं शादी करना चाहता था लेकिन अंजली के परिवार वाले सहमत नहीं थेए अंजली बर्मन के साथ महेन्द्र कुशवाहा पढता था जिससें अंजली बर्मन के प्रेम सम्बंध थेए  अंजली बर्मन महेन्द्र कुशवाहा को चाहने लगी तथा राजेश पटेल से बातचीत करना बंद कर दी, राजेश पटेल  अंजली को आये दिन मिलने के लिये परेशान करने लगा। 
प्रेमी के साथ मिलकर योजना बनाई..........
अंजली ने महेन्द्र कुंशवाहा को राजेश पटेल की हरकते बताई जिसे रास्ते से हटाने से योजना महेन्द्र कुंशवाहा के बचपन के दोस्त नरेन्द्र अहिरवार के साथ मिलकर बनायी, योजना के तहत महेन्द्र कुशवाहा ने अंजली को मिर्च पाउडर एवं नरेन्द्र को चाकू खरीदकर दे दिया, योजना के मुताबिक अंजली ने फोन कर राजेश पटेल को मिलनें के लिये बुलाया, महेन्द्र कुशवाहा की मोटर सायकिल में अजंली तथा नरेन्द्र अहिरवार, राजेश पटेल को बैठाकर रात लगभग ९ बजे, पहले से चिन्हित किये हुये नहर के पास मुकुल चौहान के प्लाट पर पहुंचे जहॉ पर पहले से महेन्द्र कुशवाहा मौजूद थाए पहुंचते ही अंजली ने अपने पास छिपाकर रखी हुई मिर्च पाउडर को राजेश पटेल के चेहरे पर डाल दियाए तभी नरेन्द्र  अहिरिवार ने राजेश पटेल का चाकू से गल रेत दियाए जिससे राजेश पटेल मौके पर ही गिर पडाए राजेश पटेल के जमीन पर गिरते ही पास ही पडा पत्थर उठाकर महेन्द्र कुशवाहा ने राजेश पटेल के सिर पर उठाकर कई बार पटक दिया जिससे राजेश पटेल की मौके पर ही मृत्यु हो गयीए राजेश पटेल का पर्स एवं मोबाईल निकालकरए पर्स को बहदन के क्रिकेट ग्राउंड में नरेन्द्र नें जला दियाए तीनों के हाथ एवं कपडे मे खून लगा हुआ थाए तीनों तुरंत तिलवाराघाट पहुंचे एवं हाथ.मुंह धोये तथा राजेश पटेल का मोबाईल तोडकर घाट में नर्मदा नदी के पानी में फेंक दिये इसके बाद महेन्द्र कुशवाहाए बहदन रोड पर नरेन्द्र को एवं अंजली को परसवाडा में अंजली के बहन के घर पर छोडकर बहदन चला गया।