पटना । राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) आज अपना 72वां जन्‍मदिन मना रहे हैं। चारा घोटाला (Fodder Scam) के मामलों में सजा पाने के कारण लालू इन दिनों भले ही मुख्‍यधारा की राजनीति से दूर हों, लेकिन उनके चुटीले बयान आज भी चर्चा में रहते हैं। उनके अनोखे व मनारंजक बयानों की मारक क्षमता के कायल विरोधी भी रहे हैं। उनके जन्‍मदिन के अवसर पर आइए नजर डालते हैं उनके ऐसे ही कुछ चर्चित व चुटीले बयानों पर...

- लालू यादव जब बिहार की सत्‍ता में थे, तब का एक बयान आज भी लोगों की जुबान पर आ जाता है। उन्‍होंने कहा था, ‘बिहार की सड़कों को हेमा मालिनी के गाल की तरह चिकनी बना देंगे।' तब विरोधियों ने बिहार की सड़कों की तुलना ओम पुरी के गालों से की थी।

- बिहार में महागठबंधन की सरकार के दौरान जब हेमा मालिनी पटना आईं थी तब उन्‍होंने लालू की जमकर तारीफ की थी। हेमा के फैन लालू का एक और बयान बहुत चर्चित रहा है। एक बार जब लालू से कहा गया कि हेमा मालिनी उनकी फैन हैं, तो लालू ने झट से कहा था, ‘मैं उनका एयरकंडीशनर हूं।’

- बिहार में परीक्षा में मनमानी व नकल की चर्चा होती रही है। एक बार लालू से नकल पर सवाल पूछा गया तो उन्‍होंने कहा, 'हम तो छात्रों को पूरी किताब ही दे देते थे।’

- रेल मंत्री रहते लालू का यह बयान भी चर्चा में रहा था, ‘अगर आप गाय को पूरी तरह नहीं दुहेंगे, तो वह बीमार पड़ जायेगी।’

- रेलवे में बढ़ती चोरी की घटनाओं पर लालू ने कहा था, 'यह तो होते रहता है. रेल का दायित्व भगवान विश्वकर्मा पर है। मैं उनका काम संभालने के लिए विवश नहीं हूं।'

- एक बार लालू ने अपने अंदाज में कहा था, ‘हम इतना काम करते हैं, अगर आराम नहीं करेंगे तो पगला जाएंगे।'

- लालू ने कई बार यह भी कहा है, 'जब-तक समोसे में आलू रहेगा, तब तक बिहार में लालू रहेगा।’ लालू यादव ने एक बार आलू पर बोलते हुए कहा था, 'लालू के राज में आलू कभी मंहगा हुआ? लालू के राज में आलू 2 रुपया किलो। आलू 2 रुपया किलो। आलू 2 रुपया किलो। आलू 2 रुपया किलो।'

- लालू कहते रहे हैं, ‘मेरी पहचान आम लोगों के बीच दूसरों से अधिक है, क्योंकि जब मैं लोगों के बीच जाता हूं तो लोग कहते हैं ललूआ आ गया…ललूआ आ गया।’

- लालू का ये बयान भी चर्चित रहा है, ‘मेरी मां ने सिखाया है कि भैंसवा को पूंछ से नहीं, बल्कि हमेशा सींग की तरफ से पकड़ो। मैंने जिंदगी में यही सबक अपनाया है।’

- गौ रक्षा पर भी लालू का यह तंज कम चर्चित नहीं रहा है, ‘गौ रक्षा का ढिंढोरा पीटने वाले लोग खुद के घरों में कुत्ता पालते हैं, गाय नहीं। जानते हो न कौन हैं ई लोग।’

- पीएम मोदी के बारे में उन्होंने कहा था, 'मोदी अगले कुछ दिनों में पागल हो जायेंगे। हमारे देश के प्रधानमंत्री बनने के लिए वे पागल हुए जा रहे हैं।'

- आज लालू कांग्रेस के साथ है। लेकिन, कभी वे उसके विरोधी थे। तब कांग्रेस पर बोलते हुए कहा था, ' कांग्रेस को हटाओ। हमरा पावर दो। ...मतलब निकल गया तो पहचानते नहीं है. और ऐसे घसक रहे हैं जैसे लालू को जानते नहीं हैं।'

- चारा घोटाला के एक मामले में पेशी के सिलसिले में लालू रांची में थे। वहां कुछ बिहारी पत्रकारों को देखकर उन्‍होंने कहा, 'यहां (झारखंड में) 'लाल पानी' है, अच्‍छा से ले लेना। हमलोग तो वहां (बिहार में) बंद करा दिए हैं।'

- करीब दो साल पहले आयकर विभाग ने उनके व परिवार के खिलाफ छापेमारी की थी। इसपर उन्‍होंने कहा था- ‘अचक डोले, कचक डोले, खैरा-पीपल कभी ना डोले।’

- लालू ने यह भी कहा था, ‘अंगद की तरह पैर गाड़ के खड़ा हूं। भाजपा को चैन से रहने नहीं दूंगा। मोदी सरकार की लंका को भस्म कर दूंगा। ये झांसों के राजा हैं। हमारे बाप-दादाओं को भी ये लोग गाली देते थे। समझ लो, मैं डरने वालों में से नहीं हूं।’