ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने कहा कि हर उपभोक्ता तक बिजली पहुँचे, जहाँ कभी किसी कारण विशेष से बिजली बंद हो, उसकी सूचना एसएमएस, वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से पहुँचाई जाए। हर जेई अपने जोन में वाट्सएप ग्रुप बनाए, जिसमें सिर्फ वही सूचना भेजे। इस ग्रुप में उपभोक्ता, जन-प्रतिनिधि, व्यापारी, शासकीय सेवक, रहवासी संघ को बिजली बंद रखने की सूचना दी जाए, जिससे प्रभावित लोगों को यह पता लगे कि उनके यहाँ बिजली इतने वक्त में आ जाएगी। ऊर्जा मंत्री इन्दौर में ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में मप्रपक्षेविविकं के 15 जिलों की समीक्षा कर रहे थे।

ऊर्जा मंत्री ने अफसरों द्वारा फोन समय पर रिसीव करने, बिल समय पर बनने व बँटने, उपभोक्ताओं से फीडबैक लेकर कार्य-प्रणाली में सुधार लाने को कहा। मंत्री श्री सिहं ने कहा कि अब टार्गेट बेस रिव्यू होगा, जो सुधार नहीं करेगा, उन्हें इंदौर जैसे शहर से हटाने में वक्त नहीं लगेगा। उन्होंने कहा कि जोन व डीसी स्तर पर उपभोक्ता सेवा केंद्र (हेल्प डेस्क) बने, जिस पर बड़ा फ्लेक्स हो, उसमें नाम, पता, नंबर आदि हो, ताकि इसका स्थानीय स्तर पर प्रचार भी हो और सेवा का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोग ले पाएँ। मंत्री श्री सिहं ने कहा कि इंदौर की व्यवस्थाएँ 29 मई को ट्रांसफार्मर जलने एवं 2 जून की बारिश से प्रभावित हुई थीं, वहाँ काफी सुधार हो गया है और अब शेष कार्य अगले दस दिन में हर हाल में हो जाए। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि तीनों वितरण कंपनी का एक ऐसा ट्रांसफार्मर फार्मूला बने ताकि रबी सीजन में किसानों को ट्रांसफार्मर का संकट न हो। उन्होंने झाबुआ शहर के लिए हाईड्रोलिक सुधार वाहन एवं झाबुआ के ही मोरडुंडिया गाँव में 33/11 केवी के सब स्टेशन की मंजूरी दी। श्री सिहं ने कन्नौद, खातेगांव, बड़वानी, सैलाना, शिवगढ़ आदि में पोल ज्यादा टूटने की जाँच का जिम्मा पावर मैनेजमेंट कंपनी को दिया। मंत्री श्री सिंह ने बिजली कर्मचारियों, अधिकारियों की सेवा व समर्पण भावना के साथ ही क्षमता की तारीफ की और कहा कि कुछ लोग बेवजह माहौल बना रहे हैं, जबकि बिजली सरप्लस है। हमें अपनी कुशल सेवाओं के माध्यम से इस माहौल को बदलना होगा। समीक्षा के पहले मंत्री श्री सिंह ने जनप्रतिनिधियों से चर्चा की।

समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने प्रमुख अस्पतालों में दोहरी बिजली लाइन का इंतजाम करने की बात कही। उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि अवैध कालोनी में बिजली इंतजाम और सुधारे जाएं, उपभोक्ताओं को वाट्सएप से जोड़ें, शाम के अखबारों में भी मैंटेनेंस की सूचना बड़े अक्षरों के साथ दी जाए। अपर मुख्य सचिव श्री आईसीपी केसरी ने कहा कि इंदौर शहर एवं इंदौर ग्रामीण के बिजली इंतजामों की रोज समीक्षा करें, सुधार हो, आप लोगों की व्यवस्था में जो कमियां हैं, उसे जल्द दूर करें। मप्र पावर मैनेजमेंट कंपनी के एमडी श्री सुखवीर सिंह एवं मप्रपक्षेविविकं के एमडी श्री विकास नरवाल, विधायक श्री संजय शुक्ला, श्री विशाल पटेल, शहर कांग्रेस अध्यक्ष श्री विनय बाकलीवाल, पार्षद श्री असाफ अंसारी आदि ने भी विचार रखे। ऊर्जा मंत्री ने समीक्षा के दौरान प्राप्त सुझावों, समस्याओं एवं शिकायतों को संकलित किया।