नई दिल्ली । टोयोटा और सुजुकी की पार्टनरशिप की पहली कार टोयोटा ग्लैंजा भारत में लांच हो गई है। एक्सटीरियर में हल्के कॉस्मेटिक बदलाव और इंटीरियर में कुछ अलग फीचर्स के अलावा यह प्रीमियम कार पूरी तरह मारुति बलेनो की कॉपी है। इस कार में एक ऐसी खूबी है, जो मारुति बलेनो पर भारी पड़ सकती है और वह खूबी है कम दाम। जी हां, बलेनो की जगह अब टोयोटा ग्लैंजा देश की सबसे सस्ती माइल्ड-हाइब्रिड कार बन गई है। टोयोटा ग्लैंजा के जी वेरियंट में सुजुकी का 1.2-लीटर के12एन स्मार्ट-हाइब्रिड इंजन दिया गया है। इसकी एक्स शोरूम कीमत 7.22 लाख है। वहीं, स्मार्ट-हाइब्रिड इंजन वाली बलेनो (डेल्टा वेरियंट) की शुरुआती कीमत 7.25 लाख है। ग्लैंजा से पहले बलेनो का यह मॉडल देश की सबसे सस्ती माइल्ड-हाइब्रिड कार थी, लेकिन अब यह खिताब 3 हजार रुपए कम कीमत में उपलब्ध ग्लैंजा के पास है।
हालांकि, टोयोटा ग्लैंजा का जी वेरियंट बलेनो के स्मार्ट-हाइब्रिड वाले जेटा वेरियंट पर आधारित है, जिसकी कीमत 7.87 लाख है। ग्लैंजा के जी और बलेनो के जेटा वेरियंट में एलईडी हेडलाइट्स, अलॉय वील्ज, कीलेस गो, ऑटो-डिमिंग मिरर्स और एंड्रॉयड ऑटो व एप्पल कारप्ले के साथ 7-इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम जैसे फीचर्स हैं। टोयोटा ग्लैंजा में दिया गया 1.2-लीटर  के12एन माइल्ड-हाइब्रिड इंजन 89 बीएचपी का पावर और 113 एनएम टॉर्क जनरेट करता है। इस इंजन के हर सिलेंडर में ड्यूल इंजेक्टर हैं। इसके साथ ही यह इंटीग्रेटेड स्टार्टर मोटर से लैस है, जो अक्सेलरेशन के दौरान थोड़ी मदद (माइल्ड असिस्ट) करता है। यह माइल्ड-हाइब्रिड इंजन ग्लैंजा के सिर्फ जी वेरियंट में मैन्युअल गियरबॉक्स के साथ उपलब्ध है। इसका माइलेज 23.87 किलोमीटर प्रति लीटर है।