मुंबई । भारतीय ‎रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कोटक महिंद्रा बैंक पर दो करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। आरबीआई की ओर से यह जुर्माना प्रमोटरों की शेयरधारिता का विवरण प्रस्तुत करने के लिए आरईआई के निर्दिष्‍ट निर्देशों का पालन न करने और निर्धारित समयसीमा के भीतर प्रमोटरों की हिस्सेदारी न घटाने के कारण लगाया गया है। नियमानुसार निजी बैंकों में प्रमोटरों की हिस्सेदारी संचालन शुरू होने के पहले तीन साल में 40 फीसदी, 10 साल के अंदर 20 फीसदी और 15 साल के भीतर 15 फीसदी तक घटाई जानी जरूरी है।