बिलासपुर । शासन के निर्देशानुसार शहर में पानी की बढ़ती समस्या को देखते हुए शासकीय एवं निजी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग निर्माण का कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके लिए निगम प्रशासन ने हर रोज ४० वॉटर हार्वेस्टिंग निर्माण करने का लक्ष्य रखा है। शहर में लगातार गिरते जल स्तर को देखते हुए शासन ने सभी शासकीय एवं निजी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग निर्माण को अनिवार्य कर दिया है। इसे देखते हुए निगम कमिश्नर श्री प्रभाकर पाण्डेय ने सभी जोन प्रभारियों को प्राथमिकता से वाटर हार्वेस्टिंग निर्माण करने के निर्देश दिए हैं। निर्देश के तहत शहर के निजी एवं शासकीय भवनों में निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। पूर्व में निजी भवन स्वामियों का वाटर हार्वेस्टिंग निर्माण शुल्क निगम में जमा है, उनके भवनों में निगम के एजेंसी के माध्यम से रैन वाटर हार्वेस्टिंग का निर्माण कराया जा रहा है। हर रोज शहर के एक जोन को १० वाटर हार्वेस्टिंग निर्माण करने का लक्ष्य दिया गया है। मतलब चारों जोन में हर दिन ४० वाटर हार्वेस्टिंग का निर्माण होगा। निगम कमिश्नर श्री प्रभाकर पाण्डेय ने हर रोज वाटर हार्वेस्टिंग निर्माण की समीक्षा करने की बात कही है। लक्ष्य के अनुरूप कार्य नहीं होने पर कार्यवाही की चेतावनी दी गई है।