लोकसभा चुनाव के सियासी दंगल में एक बार फिर से पीएम मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने विपक्ष को पटखनी दी है और प्रचंड बहुमत हासिल कर एक बार फिर मोदी सरकार की दस्तक दे दी है। देशभर में पीएम मोदी की 'प्रचंड लहर पर सवार भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करके लगातार दूसरी बार केंद्र की सत्ता अपने नाम कर ली है। लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने 2014 के ही अपने जीत के रिकॉर्ड को तोड़ दिया और एक बार और मजबूत सरकार के दौर पर दावेदारी पेश कर दी. साल 2014 में 282 सीटों जीतने वाली भाजपा ने इस बार और धमाकेदार जीत दर्ज की और कुल 300 से ज्यादा सीटें अपने नाम कर ली। यह पहला चुनाव है जब भारतीय जनता पार्टी को 41 फीसदी वोट पहली बार मिले हैं और इस तरह से करीब 48 साल बाद बीजेपी पूर्ण बहुमत से सत्ता में आई है. तो चलिए जानते हैं इस चुनाव की 10 बड़ी और खास बातें...

1. अब तक के परिणाम:
गुरुवार की आधी रात के बाद घोषित किये गये 458 सीटों के परिणामों में से भाजपा ने 272 के जादुई आंकड़े को छूकर पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया है और इस तरह भगवा पार्टी 543 सदस्यीय लोकसभा में 300 के आंकड़े को पार करने की ओर आगे बढ़ रही है। भाजपा ने 31 अन्य सीटों पर बढ़त बना रखी है। बता दें कि साल  2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को 282 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। भाजपा और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल उसके सहयोगी लगभग 350 सीटों पर जीत हासिल करते हुए दिख रहे है। राजग ने पिछले लोकसभा चुनाव में 336 सीटों पर विजय हासिल की थी।

2. जीत का नया रिकॉर्ड:
जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद मोदी देश के तीसरे और पहले गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री है जो लोकसभा में लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनायेंगे । इसके साथ ही उन्होंने दूसरी बार इस धारणा को धराशाही कर दिया कि केन्द्र की सत्ता में अब गठबंधन का दौर शायद ही खत्म हो। चुनाव आयोग द्वारा जारी मतगणना के आंकड़ों के अनुसार कांग्रेस के 52 सीटों तक ही सिमटने के ही आसार नजर आ रहे हैं । भाजपा की लहर इतनी प्रचंड थी कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने परिवार के गढ अमेठी में स्मृति ईरानी से हार गए हालांकि वह केरल में वायनाड से जीत गए । इस चुनाव ने 68 बरस के नरेंद्र दामोदरदास मोदी को पिछले कई दशकों में सबसे लोकप्रिय नेता बना दिया । 

3. यूपी में सपा-बसपा को करारी शिकस्त: 
दशकों से चली आ रही दुश्मनी भुलाकर साथ आए बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के जातीय गठजोड़ को भी मोदी लहर ने बहा दिया। देर रात तक भाजपा की अगुवाई वाला एनडीए यूपी में 64 सीटों पर आगे चल रहा था जबकि सपा को पांच सीटें ही मिल ही पाईं। मुलायम परिवार के तीन सदस्य भी चुनाव हारते हुए दिख रहे हैं। हालांकि बसपा ने प्रदर्शन सुधारा है और उसे 10 सीटों पर कामयाबी मिलती दिख रही है। उत्तर प्रदेश जैसे राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण राज्य में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन से मिली चुनौती के बीच भाजपा के 80 में से 62 सीटें जीतने की उम्मीद है । सपा छह और बसपा 11 सीटों पर आगे है । भाजपा ने पिछली बार उत्तर प्रदेश में 71 सीटें जीती थी लेकिन इस बार भी उसका प्रदर्शन तमाम एक्जिट पोल के अनुमानों से बेहतर है । 

4. बिहार में मोदी लहर में उड़ा विपक्ष
लोकसभा चुनाव में बिहार में मोदी लहर में विपक्ष पूरी तरह खत्म हो गया. बिहार में राजद को एक भी सीट नहीं मिली. मोदी की आंधी में बिहार में कई दलों का महागठबंधन भी ध्वस्त हो गया। लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल को एक भी सीट नहीं मिली। कांग्रेस को सिर्फ एक सीट मिलती दिख रही है।.

5. कांग्रेस के नौ पूर्व मुख्यमंत्रियों की हार
चुनाव नतीजे कांग्रेस के लिए बेहद निराशाजनक साबित हुए हैं। पार्टी अपनी सत्ता वाले कर्नाटक, राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बुरी तरह परास्त हुई है। पार्टी के नौ पूर्व मुख्यमंत्री भूपिन्दर सिंह हुड्डा, शीला दीक्षित, दिग्विजय सिंह, हरीश रावत, मुकुल संगमा, सुशील शिंदे, नबाम तुकी, अशोक चव्हाण, वीरप्पा मोइली हार की तरफ बढ़ते दिख रहे 

6. प्रंचड जीत के बाद क्या बोले मोदी:
मोदी ने देशवासियों को धन्यवाद देते हुए कहा ,'' आपने फकीर की झोली उम्मीदों से भर दी है । हमने नये भारत के निर्माण के लिये जनादेश मांगा था और लोगों ने हमें इसके लिये आशीर्वाद दिया है । उन्होंने भाजपा मुख्यालय में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के साथ खचाखच भरे कार्यकर्ताओं और समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा ,'' भारत में पहली बार मतदान का प्रतिशत इतना रहा है और अब दुनिया को भारतीय लोकतंत्र की ताकत को पहचानना होगा । उन्होंने यह भी कहा कि 'मेरे जीवन का हर पल और 'मेरे शरीर का हर कण देश की भलाई के लिये समर्पित है । उन्होंने विरोधी दलों से भी चुनाव अभियान की कटुता को भुलाने का आग्रह किया । उन्होंने कहा ,'' हमें आगे बढना होगा । हमें सभी को साथ लेकर चलना होगा, विरोधियों को भी । हमें देश के हित में काम करना है ।    

7. मोदी-शाह की जोडी़ की जबरदस्त जीत:
मोदी वाराणसी में चार लाख 79 हजार 505 वोट से जीत गए जबकि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह गुजरात में गांधीनगर लोकसभा सीट पर साढे पांच लाख वोट से विजयी रहे हैं । बता दें कि मोदी पिछली बार भी वाराणसी से चुनाल लड़े थे और जीत हासिल की थी. वहीं अमित शाह पहली बार लोकसभा चुनाव लड़े. गांधीनगर से उन्होंने आडवाणी को रिप्लेस कर खुद चुनाव लड़ा और प्रचंड जीत हासिल की. 

8. राहुल गांधी ने दी बधाई: 
राहुल गांधी ने कहा कि भारत के लोगों ने तय किया है कि नरेंद्र मोदी अगले प्रधानमंत्री होंगे और मैं उसका पूरा सम्मान करता हूं । उन्होंने मोदी और भाजपा को बधाई देते हुए कहा कि आज का दिन हार के कारणों की पड़ताल करने का नहीं है बल्कि देशवासियों की इच्छा का सम्मान करने का है । 

9. बंगाल में जबरदस्त प्रदर्शन: 
भाजपा ने बंगाल में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए अकेले 18 सीटें जीती हैं। वामपंथियों का गढ़ रहे बंगाल में वामदलों को एक भी सीट मिलती नहीं दिख रही है।. बंगाल में बीजेपी के लिए ममता बनर्जी के सामने जीत हासिल करना बडी़ चुनौती थी, मगर बीजेपी ने इसे भी आसान बना दिया. 

10.किस पार्टी ने किन मुद्दों पर लड़ा चुनाव: 
कांग्रेस के चुनावी मुद्दे: न्याय योजना, राफेल सौदा, कर्जमाफी, रोजगार, मोदी.
बीजेपी के चुनावी मुद्दे: राष्ट्रवाद, राष्ट्रीय सुरक्षा, विकास, गरीबी, किसान.