बॉलिवुड के दबंग सलमान खान के अनुसार वह बचपन से अपनी मां का पल्लू पकड़ कर पीछे-पीछे भागते थे। सलमान बताते हैं, 'मां मुझे पीली वाली दाल और चावल अपने हाथों से खिलाती थी, लेकिन जबसे मां ने दाल-चावल खिलाना बंद किया मैंने तो पीली दाल खानी ही बंद कर दी है। मां घर में हम सभी भाई-बहनों के साथ चोर-पुलिस का खेल खेलती थी जबकि पिता सलीम खान अनुशासन बनाये रखते थे। वे जरा सी गलती में जमकर फटकार लगाते थे। 
'मां ने हम सभी भाइयों-बहनों को बहुत अच्छी तरह संभाला है, वह बहुत मजबूत हैं, बहुत उतार-चढ़ाव भी देखे हैं। मां और डैड को मेरी वजह से बहुत शॉक भी लगे हैं। बहुत सारी खुशियों के साथ, कुछ ऐसी चीजें भी मेरी जिंदगी में आई हैं, जिनका असर मेरे माता-पिता पर बहुत हुआ है, खास तौर पर मां को, मेरी परेशानियों की चिंता की वजह से मां जल्दी बूढ़ी होती जा रही है।
'मेरे अंदर ऐसी सभी बातें मौजूद हैं, जिसकी वजह से आप मुझे मामास बॉय कह सकते हैं। मुझसे एक लड़की ने पूछा कि वह और मेरी मां एक नाव में होंगे और नाव डूब रही होगी तो क्या करोगे? मैंने उनसे कहा पत्नी तो दूसरी ले आऊंगा, लेकिन मां कहां से लाऊंगा।
सेट पर हर रोज 30 से 35 लोगों का खाना भेजती हैं मां
'मां हम तीनों भाइयों को अपने हाथ से खाना बनाकर भेजती हैं, जब सेट पर मेरा खाना आता है तो इतना होता है कि 30 से 35 लोग खा सकते हैं।'
मां सलमा खान कहती हैं, 'जब सलमान गाड़ी चलता है तो मुझे गाड़ी में बैठना नहीं पसंद है, क्योंकि सलमान को ट्रैफिक पसंद नहीं है तो वह कहीं भी गाड़ी घुमाकर निकने की कोशिश करता है।' 
मैं इसका ज्यादा ख्याल रखती हूं, मेरा फेवरेट भी है। यह ख्याल तब तक रखूंगी, जब तक इसकी शादी नहीं हो जाती, शादी के बाद कोई आ जाएगा, जो ध्यान रखेगा। सलमान मुझसे मार तो बहुत खाता था, आज भी मार खाता है।' मां कि बात सुनकर सलमान कहते हैं, 'बता दूं, यह मां की मार प्यार वाली नहीं होती, अचानक जोर से सटाक से जब मार पड़ती है, तो पता ही नहीं चलता है कि यह मार पड़ी कहां से। फिर मैं कहता हूं क्या मम्मी अब मैं बड़ा हो गया हूं अब मत मारा करो।'
'सलमान की सभी गर्लफ्रेंड अच्छी थीं, अब यह अलग बात है कि कोई इसकी किस्मत में ही नहीं थी, उसका क्या कर सकते हैं। लड़कियां फैन भी बहुत आती रही हैं, उनको भी खूब टेकल किया है। यह बहुत अच्छा हज़्बंड बनेगा और सबसे अच्छा फादर बनेगा। अरबाज और सोहेल के बच्चों का सबसे ज्यादा झुकाव सलमान की ओर ही होता है।'