जबलपुर। पिछले तीन दिनों से पारा ४२ डिग्री के पार चल रहा है। दिन में गर्म लू के थपेड़े सड़कों पर निकलना मुश्किल कर रहे हैं। चहकते अंगारे जैसी लगने वाली धूप पल भर में शरीर को पसीने से नहला देती है। दिन में तेज धूप में पसीना बह रहा है तो रात में उमस बेचैन कर रही है। गुरुवार को दिन भर चटक धूप खिली रही, रात में उमस बढ़ गई थी। मौसम विभाग की मानें तो अभी पारा ४३ से ४४ के बीच ही चलेगा। पश्चिमी हवाओं के कारण मौसम एकदम शुष्क हो गया है। बेहद तीखी गर्मी के बीच दिन में लू के थपेड़े अब शरीर को झुलसाने लगे हैं। 
    स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के प्रवक्ता ने बताया कि दक्षिणी उत्तरप्रदेश और उत्तरी मध्यप्रदेश के साथ-साथ पश्चिम बंगाल में हवा के कम दबाव का क्षेत्रफल बना हुआ है, इसकी वजह से बीच-बीच में हल्के बादल आ रहे हैं। इसके बावजूद पारा उछाल ले रहा है। फिलहाल मौसम शुष्क रहेगा। पिछले २४ घंटों के दौरान नगर का अधिकत्तम तापमान ४२.१ डिग्री सेल्सियस सामान्य से १ डिग्री अधिक दर्ज किया गया है, वहीं न्यूनतम तापमान २६.० डिग्री सामान्य से १ डिग्री कम दर्ज किया गया है। हवा में नमी प्रात: काल ३० प्रतिशत और सायंकाल १६ प्रतिशत आंकी गई। सूर्योदय सुबह ५.२८ पर और सूर्यास्त शाम ६.४५ मिनिट पर दर्ज किया गया। प्रदेश में सबसे अधिक ४३ डिग्री तापमान खरगौन और खजराहो में दर्ज किया गया। पश्चिमी हवायें ८ किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलीं। गत वर्ष आज के दिन का अधिकतम तापमान ४२.१ और न्यूनतम तापमान २९.२ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। अगले २४ घंटों के दौरान मौसम शुष्क रहने की संभावना है।