नई दिल्ली ।  स्टडी के अनुसार अवसाद का खतरा अखरोट खाने से कम हो सकता है। अखरोट का सेवन एकाग्रता का स्तर भी बढ़ाने में बेहतर साबित हो सकता है। विश्वविद्यालय के शोधार्थियों ने अखरोट खाने वाले लोगों में अवसाद का स्तर पर 26 फ़ीसदी कम, जबकि इसी तरह के अन्य चीजें खाने वालों में अवसाद का स्तर 8 फ़ीसदी कम पाया है। अध्ययन के अनुसार अखरोट खाना शरीर में ऊर्जा की वृद्धि और बेहतर एकाग्रता से संबंध रखता है। प्रमुख शोधार्थी लेनोर अरब ने एक अध्ययन का हवाला देते हुए कहा कि अध्ययन में शामिल किए गए छह में से हर एक वयस्क जीवन में एक समय पर अब का अवसाद ग्रस्त होता है। इससे बचाव के लिए किफायती उपायों की जरूरत होती है, जैसे कि खानपान में बदलाव करना। उन्होंने बताया कि पहले किए गए शोध में अखरोट का ह्रदय रोगों से संबंध पाया गया, जिसके बाद अब इसे अवसाद के लक्षण के संबंध पर देखा जा रहा है। अध्ययन में 26,000 से ज्यादा अमेरिकी वयस्कों को शामिल किया गया।