नई दिल्ली । लोकसभा चुनाव में नकदी, जेवर और शराब बीते चुनावों की तुलना में कई गुना पकड़ी गई है। चुनाव आयोग ने अलग-अलग जगहों पर टीम लगाकर चुनाव में शराब, नकदी और सोने के इस्तेमाल पर रोक लगाने का प्रयास किया है। दिल्ली राज्य निर्वाचन आयोग ने इस लोकसभा चुनाव में बड़ी मात्रा में नकदी जब्त की है। आयोग के अनुसार आदर्श आचार संहिता के दौरान दिल्ली से कुल 34 करोड़ से अधिक की नकदी पकड़ी है। जो बीते लोकसभा चुनावों की तुलना में 20 गुना अधिक है। दिल्ली राज्य निर्वाचन आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार 10 मार्च को आम चुनावों की घोषणा होने के साथ ही दिल्ली समेत देशभर में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई थी। जिसमें चुनाव में नकदी का प्रभाव रोकने के लिए आयोग की तरफ से विशेष कदम उठाए गए। जिसके तहत कई टीमें गठित की गई, तो वहीं आईटी विभाग का भी सहयोग लिया गया। नतीजतन 10 मई तक 344623105 रुपये से अधिक की नकदी जब्त की गई। जबकि वर्ष 2014 में संपन्न हुए चुनाव के दौरान कुल 17110300 रुपए की नकदी ही पकड़ी गई थी।

बड़ी मात्रा में ज्वैलरी भी जब्त
इस चुनाव में आयोग ने नकदी के साथ ही बड़ी मात्रा में ज्वैलरी भी जब्त की है। आयोग के अनुसार आचार संहिता के दौरान कुल 9 करोड़ 98 लाख 21 हजार 972 रुपए की ज्वैलरी जब्त की गई है, जबकि वर्ष 2014 में संपन्न हुए चुनावों में कुल 20 लाख रुपए की ज्वैलरी पकड़ी गई थी।

दस गुना अधिक अवैध शराब भी जब्त
आयोग ने वर्ष 2014 में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों की तुलना में इस बार दस गुना अधिक अवैध शराब पकड़ी है। आयोग से मिली जानकारी के अनुसार इस चुनाव में कुल 1 लाख 39 हजार 906 लीटर अवैध शराब पकड़ी गई। जिसका बाजार मूल्य पौने चार करोड़ रुपये से अधिक है, जबकि वर्ष 2014 के चुनाव में 13868 लीटर अवैध शराब पकड़ी गई थी, जिसका बाजार भाव 24 लाख से अधिक था।