नई दिल्ली | इस बार मानसून केरल में 3 दिन की देरी से 4 जून को दस्तक देगा। साथ ही बारिश भी सामान्य से कम होने के आसार हैं। यह पूर्वानुमान निजी क्षेत्र की एजेंसी ‘स्काईमेट' ने जारी किया। आम तौर पर 1 जून को मानसून केरल तट से टकराता है। अनुमान के मुताबिक इस साल मानसून का स्तर 93 फीसदी रहेगा। हालांकि क्षेत्रीय वितरण असमान रहेगा। मध्य हिस्से में सबसे कम 91फीसदी, पूर्व और पूर्वोत्तर में 92 फीसदी, दक्षिण में 95 प्रतिशत और पश्चिमोत्तर में 96 प्रतिशत बारिश का अनुमान है। मानसून बढ़ने की गति में निरंतरता का भी अभाव देखने को मिल सकता है। स्काईमेट के सीईओ जतिन सिंह ने कहा, ‘इस बार सभी चार क्षेत्रों में सामान्य से कम बारिश होगी। एजेंसी के मुताबिक अल-नीनो के प्रभाव के कारण प्रशांत महासागर का जल स्तर गर्म हो जाएगा जिससे भारतीय मानसून पर विपरीत असर पड़ेगा। देश में 70 फीसदी बारिश मानसून से होती है।