कोरबा। कोरकोमा-बताती के जंगल में रविवार की तड़के एक तेज रफ्तार स्कार्पियो पलट गई। इस घटना के बाद स्कार्पियो में बैठे लोगों ने वाहन को आग के हवाले कर दिया। बताया जा रहा है कि स्कार्पियो में बड़े पैमाने पर गांजा भरा हुआ था। वाहन दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद गांजा तस्कर सबूत मिटाने के लिए वाहन में आग लगा भाग खड़े हुए।

रविवार की तड़के पांच बजे करतला थाना अंतर्गत बताती हनुमान मंदिर मार्ग में मंदिर के पुजारी ने एक वाहन से धुआं उठते देखा। उसने इसकी जानकारी करतला पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि स्कार्पियो पलटी थी और वाहन से आग की लपटें उठ रही थी। थोड़ी देर में मौके पर ग्रामीणों की भीड़ लग गई। ग्रामीणों का कहना है कि आग में जलने के बाद गांजा की महक चारों और फैल गई है, जिससे अंदाजा लगाया गया कि वाहन में गांजा बड़े पैमाने पर भरा हुआ था। माना जा रहा है कि ओडिशा के रास्ते से गांजा कोरबा पहुंचाया जा रहा था। इस दौरान बताती मार्ग में तेज रफ्तार वाहन अनियंत्रित होकर पलट गई।

वाहन के आगे-पीछे का नंबर भी जलकर खाक हो चुका था, जिसकी वजह से पुलिस को कुछ भी जानकारी नहीं मिल पा रही। पुलिस केवल हवा में हाथ पैर मार रही है। कोरबा जिला गांजा तस्करों के लिए लंबे समय से ही कारोबार का अड्डा बना हुआ है। गांजा तस्कर अलग-अलग रास्ते से गांजा खपाने कोरबा आते हैं। कई बार उन्हें पुलिस ने पकड़ा भी है। बावजूद इसके गांजा तस्करी का व्यापार जिले में फल-फूल रहा है। स्कार्पियों में रखे गांजा की कीमत लाखों में आंकी जा रही है। वाहन के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद पकड़े जाने का डर था, जिसे देखते हुए तस्करों ने आग लगा दी। बहरहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

कैश वेन व एंबुलेंस का नहीं खुला रहस्य
इसके पहले पाली थाना क्षेत्र के एक गांव में गांजा से भरी कैश वेन लावारिस अवस्था में पुलिस ने बरामद किया था। पुलिस ने पूरी जांच पड़ताल कर ली, पर आरोपितों तक नहीं पहुंच सकी। कैश वेन गुजरात का था, जिसे बेच दिया गया, लेकिन जिन लोगों ने खरीदा था उसके नाम पर गाड़ी नहीं हुआ था। इसके पहले एंबुलेंस में गांजा बरामद किया गया था। काफी मशक्कत के बाद भी इस मामले की तह तक भी पुलिस नहीं पहुंच सकी। लंबे समय से कोरबा के मार्ग का उपयोग ओडिशा के तस्कर गांजा परिवहन व खपाने में कर रहे।

बताती मार्ग पर स्कार्पियो के पलटकर जलने की खबर मिली थी। मौके पर पहुंचने पर देखा कि वाहन पूरी तरह जल चुका था। वाहन के अंदर क्या सामान था, इसकी पुष्टि की जा रही है। ग्रामीणों का कहना है कि गांजा की महक आ रही थी। जले हुए स्ट्रक्चर के आधार पर वाहन मालिक संबंध में जानकारी जुटाने का प्रयास किया जा रहा है। - सुनील कुर्रे, थाना प्रभारी, करतला