मुंबई । मकान, दुकान और जमीन के लिए कर्ज देने वाली एचडीएफसी ने संकट में फंसी जेट एयरवेज के कार्यालय को नीलाम करने की योजना बनाई है। इसके लिए आरक्षित मूल्य 245 करोड़ रुपए रखा गया है। कंपनी ने बकाया कर्ज की वसूली के लिए यह कदम उठाया है। जेट एयरवेज का परिचालन 17 अप्रैल से अस्थायी रूप से बंद है। एयरलाइन के पर एचडीएफसी का 414 करोड़ रुपए बकाया है। एचडीएफसी ने सार्वजनिक नोटिस में कहा कि जेट एयरवेज 414.80 करोड़ रुपए का बकाया लौटाने में विफल रही। अत: एचडीएफसी गिरवी रखी अचल संपत्ति को भुनाने की हकदार है। दफ्तर मुंबई के उपनगरी वित्तीय केंद्र बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में 52,775 वर्ग फुट में बना हुआ है। यह जेट एयरवेज गोदरेज बीकेसी इमारत की चौथी मंजिल पर है। सार्वजनिक नोटिस के अनुसार कार्यालय के लिए आरक्षित मूल्य 245 करोड़ रुपए और इसकी ई-नीलामी 15 मई को होगी।