लंदन । वैसे पुरुष जो पिता बनने की कोशिश कर रहे हैं उन्हें लूज अंडरवेअर पहनना चाहिए। ऐसे पुरुष जो टाइट फिटिंग अंडरवेअर पहनते हैं उनकी तुलना में लूज फिटिंग बॉक्सर शॉर्ट्स पहनने वाले पुरुषों में स्पर्म काउंट और स्पर्म की सघनता और गाढ़ापन दोनों अधिक था। साथ ही बॉक्सर्स पहनने वाले लोगों में स्पर्म और ज्यादा ऐक्टिव रहते हैं और रिप्रॉडक्टिव हॉर्मोन्स का लेवल भी अधिक होता है। यह दावा किया गया है 'ह्यूमन रिप्रॉडक्शन' नाम की एक स्टडी में। बॉस्टन स्थित हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के जॉर्ज चैवारो और लिडिया मिन्गुएज अलारकॉन ने 656 पुरुषों की जांच की। 18 से 56 साल की आयु वर्ग के बीच के ये सभी पुरुष सामान्य वजन वाले थे और ये वैसे लोग थे जिनके पार्टनर इन्फर्टिलिटी की ट्रीटमेंट करवा रहे थे। चैवारो कहते हैं, 'वैसे पुरुष जो टाइट फिटिंग अंडरवेअर पहनते हैं उनमें स्पर्म की संख्या कम होती है। उदाहरण के लिए अगर किसी पुरुष में स्पर्म की संख्या 150 मिलियन से घटकर 130 मिलियन हो जाए तो इससे बहुत ज्यादा फर्क नहीं पड़ता लेकिन अगर किसी पुरुष में स्पर्म काउंट 30 मिलियन ही हो और वह घटकर 10 मिलियन हो जाए तो यह चिंता की बात हो सकती है।' चैवारो कहते हैं कि टाइट फिटिंग अंडरवेअर का स्पर्म काउंट पर असर इसलिए भी पड़ता है क्योंकि इस तरह के अंडरवेअर पहनने पर पुरुषों का टेस्टिस शरीर के बेहद करीब रहता है। स्पर्म के सफलतापूर्वक उत्पादन के लिए बेहद जरूरी है कि टेस्टिस का तापमान शरीर के तापमान से 3 से 4 डिग्री कम हो।