नई दिल्ली । दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट में अपनी शर्ट निकालकर जेल में बंद आरोपी ने पीठ में ठप्पे को गर्म कर ओम का निशान पीठ में दागने की शिकायत की। मजिस्ट्रेट रिचा पाराशर ने जेल में बंद कैदी की पीठ पर दागे गए। ओम निशान की फोटो खिंचवाई। मजिस्ट्रेट ने तिहाड़ जेल प्रशासन को 24 घंटे में रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया।
दिल्ली के न्यू सीलमपुर का रहने वाला आरोपी नब्बीर उर्फ पोपा हथियार सप्लाई मामले में तिहाड़ जेल में बंद था। उसे जेल नंबर 4 में ज्यादा जोखिम वाले वार्ड में रखा गया था। कैदी को 4 नंबर जेल से निकालकर हाई सिक्योरिटी वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है।
पेशी में आए नब्बीर ने कोर्ट को बताया, कि जेल अधीक्षक के चेंबर में एक जोत जल रही थी। वहीं ओम निशान वाला ठप्पा रखा हुआ था। उसे गर्म करके जेल अधीक्षक के सेवादार भास्कर ने जेल अधीक्षक के कहने पर, उसकी पीठ पर गर्म ठप्पा दाग दिया। तिहाड़ जेल प्रशासन ने इस प्रकरण की जांच के आदेश, एआईजी राजकुमार को दिया है। 2 सप्ताह में वह अपनी जांच रिपोर्ट जेल प्रशासन को देगा।