मुंबई। विशेष सीबीआई अदालत ने मुंबई के बहुचर्चित शीना बोरा मर्डर केस के आरोपी पीटर मुखर्जी को इलाज के लिए एक निजी अस्पताल में और कुछ दिन रहने अनुमति दे दी है. इससे पहले अदालत ने पीटर की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. मालूम हो कि पिछले महीने मुखर्जी की बायपास सर्जरी हुई थी, तब से वह अस्पताल में है. बायपास सर्जरी के बाद सेहत का हवाला देते हुए पीटर ने 6 महीने के लिए जमानत मांगी थी. तब पीटर के वकील ने कहा था कि सर्जरी के बाद मुखर्जी को शांतिपूर्ण और स्वस्थ माहौल में जीवन बिताने की जरूरत है. ऐसे ऑपरेशन के बाद स्वस्थ होने में मरीज को साल भर का समय लग जाता है, इसलिए अदालत कम से कम 6 महीने के लिए जमानत दे. मगर अदालत ने पीटर की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. बता दें कि शीना बोरा मर्डर केस में पीटर मुखर्जी के साथ ही उनकी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी भी जेल में बंद हैं. पीटर नवंबर, 2015 से जेल में हैं.