नई दिल्ली  | सीबीआई ने पर्यावरण मंत्रालय के एक अधिकारी को कथित रूप से रिश्वत देने को लेकर भारतीय वन सेवा के दो वरिष्ठ अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि तरुण जौहरी और डी. गोगोई, दोनों मुख्य वन संरक्षक के पद पर क्रमश: अरुणाचल प्रदेश और पोर्ट ब्लेयर में तैनात थे। दोनों को विभागीय कार्य कराने के लिए पर्यावरण मंत्रालय के अधिकारी को 20,000 रुपये की रिश्वत देने के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि गोगोई का विभागीय सेवा का कोई मामला मंत्रालय में लंबित था जिसके लिए उन्होंने अपने बैच के जौहरी से मदद मांगी जो दिल्ली के दौरे पर थे। अधिकारियों ने बताया कि जौहरी ने गोगोई की ओर से मंत्रालय के *एक अधिकारी को 10,000 रुपये *का भुगतान किया जिसने रिश्वत के बारे में अपने वरिष्ठ अधिकारी से शिकायत की। उन्होंने कहा कि एक मामला दर्ज कर लिया गया और सीबीआई द्वारा सत्यापन प्रक्रिया के दौरान गोगोई ने अधिकारी को और 10,000 रुपये का भुगतान किया। सफल सत्यापन के बाद जौहरी को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि गोगोई को रविवार को गिरफ्तार किया गया।