मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद से सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। कांग्रेस में भी उम्मीदवारों के नामों पर में मंथन जारी है। इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि वह सूबे में कठिन से कठिन सीटों पर लड़ने के लिए तैयार हैं। दरअसल मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पिछले दिनों कहा था कि हमने दिग्विजय सिंह से कहा है कि वे सबसे कठिन जो दो तीन सीट हैं उनसे चुनाव लडें। इन सीटों में भोपाल, उज्जैन, इंदौर और विदिशा है। आज दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा, 'धन्यवाद कमलनाथ जी को जिन्होंने मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कमजोर सीटों पर लड़ने का आमंत्रण दिया। उन्होंने मुझे इस लायक समझा मैं उनका आभारी हूं।' उन्होंने कहा, 'मैं राघौगढ़ की जनता की कृपा से 77 की जनता पार्टी लहर में भी लड़ कर जीत कर आया था। चुनौतियों को स्वीकार करना मेरी आदत है। जहां से भी मेरे नेता राहुल गांधी कहेंगे मैं लोक सभा चुनाव लड़ने तैयार हूं। नर्मदे हर।'
ध्यान रहे कि दिग्विजय सिंह की पहली पसंद राजगढ़ सीट है। राजगढ़ दिग्विजय सिंह के प्रभाव वाला क्षेत्र माना जाता है। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राजगढ़ संसदीय क्षेत्र में आने वाली सभी पांच विधानसभा सीटें जीती थी। मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों पर चार चरणों में वोट डाले जाएंगे। 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 26 सीटों पर जीत दर्ज की थी, तब सूबे की सत्ता पार्टी के पास थी। कांग्रेस ने 3 सीटों पर जीत दर्ज की थी।