भोपाल। पिपलानी इलाके में सात माह की गर्भवती महिला शनिवार शाम को संदिग्ध परिस्थितियों में चौथी मंजिल से नीचे गिर गई। उसे लहूलुहान हालत में सुल्तानिया अस्पताल ले जाया गया। इलाज के दौरान गर्भ में पल रहे बच्चे को डॉक्टरों ने बचाने की कोशिश की पर नहीं बचाया जा सका। इसके बाद डॉक्टरों ने महिला व बच्चे को मृत घोषित कर दिया। महिला ने नौ माह पहले लव मैरिज की थी। पिपलानी पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में महिला के कूदकर खुदकुशी करने की बात सामने आ रही है। हालांकि परिजनों का कहना है कि वह काफी खुश थी, खुदकुशी जैसी कोई बात ही नहीं थी।

पिपलानी थाने के एसआई नागेंद्र शुक्ला के अनुसार आलम नगर मल्टी में चौथी मंजिल पर रहने वाली 19 वर्षीय आफरीन उर्फ मुस्कान पति वसीम गृहणी थी। वह अपने पति के साथ ससुराल में रहती थी। शनिवार शाम को वह चौथी मंजिल की बालकनी से नीचे गिर गई। मृतका के चाचा अफजल शेख ने बताया कि आफरीन ने नौ माह पहले अपने घर के पास रहने वाले वसीम से लव मैरिज की थी। आफरीन सात माह की गर्भवती थी। घर में उसकी काफी देखभाल की जाती थी। इसके बाद भी उसने ऐसा कदम कैसे उठाया, समझ नहीं आ रहा है। घटना कब और कैसे हो गई, कोई देख नहीं पाया।
ऑपरेशन के बाद गर्भ से निकाला सात माह का मृत बच्चा

चौथी मंजिल से गिरी आफरीन को लहूलुहान हालत में सुल्तानिया अस्पताल ले जाया गया था। जहां पर ऑपरेशन कर डाक्टरों ने उसके बच्चे को बचाने की कोशिश की, लेकिन वे कामयाब नहीं हुए। इसके बाद महिला के शव का पंचनामा बनाकर हमीदिया अस्पताल में पीएम कराया गया। रविवार को शव को परिजनों को सौंप दिया गया।
मृतका के पति वसीम ने बताया कि हम दोनों के अच्छे रिश्ते थे। वह छत से गिरी या कूदी किसी ने घटना नहीं देखी है। हम दोनों की शादी के दिन ही यह फ्लैट हमें आवंटित हुआ था।