राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में हार के बाद आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा के लिए करीब दस हजार से ज्यादा भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के राष्ट्रीय कार्यकारिणी (BJP National Executive) के सदस्य दो दिवसीय मंथन को लेकर राजधानी में जुटे हैं। राष्ट्रीय अधिवेशन का आज यानि शनिवार को दूसरा दिन है। अधिवेशन का समापन भाषण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देते हुए कार्यकर्ताओं को  2019 लोकसभा चुनाव के लिए जीत का मंत्र दे रहे हैं। इससे पहले, शुक्रवार को अधिवेशन की शुरुआत बीजेपी अध्यक्ष (BJP President) अमित शाह (Amit Shah) के भाषण के जरिए हुई। जिसमें शाह ने कहा कि आरक्षण से युवाओं का सपना साकार होगा। उन्होंने कहा कि जीएसटी से छोटे कारोबारियों को राहत दी गई है। 

ऐसा नहीं है क्योंकि हमारे लिए स्वयं से बड़ा दल और दल से बड़ा देश है : पीएम मोदी
क्या आयुष्मान भारत योजना के आगे नरेन्द्र मोदी लिखा है? क्या भारत माला, सागर माला के आगे नरेन्द्र मोदी लिखा है? क्या उज्ज्वला योजना मोदी के नाम से जानी जाती है? ऐसा नहीं है क्योंकि हमारे लिए स्वयं से बड़ा दल और दल से बड़ा देश है : पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, पहले लोन देने के दो तरीके होते थे एक कॉमन प्रोसेस और दूसरा कांग्रेस प्रोसेस
पीएम मोदी ने कहा कि पहले लोन देने के दो तरीके होते थे एक कॉमन प्रोसेस और दूसरा कांग्रेस प्रोसेस। कॉमन प्रोसेस में लोग बैंक में लोन लेने जाते थे लेकिन कांग्रेस प्रोसेस में अपने लोगों को लोन दे दिया जाता था। कॉमन प्रोसेस में लोन चुकाना ही होता था और कांग्रेस प्रोसेस में एक लोन चुकाने के लिए दूसरा लोन दिया जाता था दूसरे लोन के लिए तीसरा लोन दिया जाता था और इस तरह से लोन को गोल कर दिया जाता था।

विरोधी दलों के लोग आरोप लगाते हैं हमने सिर्फ योजनाओं के नाम बदले हैं : पीएम मोदी
विरोधी दलों के लोग आरोप लगाते हैं हमने सिर्फ योजनाओं के नाम बदले हैं। ऐसे लोग ये बताएं कि कितनी योजनाएं नरेन्द्र मोदी के नाम से चल रही है? ये इसलिए है क्योंकि भाजपा में हमें यही सिखाया गया है कि स्वयं से बड़ा दल और दल से बड़ा देश होता है : पीएम मोदी

2022 तक किसान अपनी आय दोगुनी करने के साधन जुटा सके इसके लिए हम दिन रात जुटे हुए हैं : पीएम मोदी
कोशिशों में हमने कोई कमी नहीं छोड़ी है और ये आगे भी जारी रहेगी। साल 2022 तक किसान अपनी आय दोगुनी करने के साधन जुटा सके इसके लिए हम दिन रात जुटे हुए हैं : पीएम मोदी

पीएम मोदी बोले, मैं दावा नहीं करता कि सारे लक्ष्य पूरे कर लिए
पीएम मोदी बोले, मैं दावा नहीं करता कि सारे लक्ष्य पूरे कर लिए, अगर ऐसा होता तो मोदी की जरूरत नहीं होतीअब कितने दिन हो गए कि टीवी पर दाल की कीमतों पर ब्रेकिंग न्यूज नहीं आई: पीएम मोदी
पहले दाल की कीमतों को लेकर कितना हल्ला मचाया जाता था। अब कितने दिन हो गए कि टीवी पर दाल की कीमतों पर ब्रेकिंग न्यूज नहीं आई। यह संभव हुआ क्योंकि हमारी सरकार ने नई नीतियां बनाई हैं : पीएम मोदी
अब भी हम किसानों के लिए बहुत कुछ करना चाहते हैं : पीएम मोदी
यूपीए सरकार ने अपने आखिरी पांच साल में किसानों से 7 लाख मीट्रिक टन दलहन और तिलहन की खरीद की। हमने बीते साढ़े चार साल में 95 लाख मीट्रिक टन उपज किसान से खरीदी। अब भी हम किसानों के लिए बहुत कुछ करना चाहते हैं : पीएम मोदीयह संभव हुआ क्योंकि हमारी सरकार ने नई नीतियां बनाई हैं : पीएम मोदी
पहले दाल की कीमतों को लेकर कितना हल्ला मचाया जाता था। अब कितने दिन हो गए कि टीवी पर दाल की कीमतों पर ब्रेकिंग न्यूज नहीं आई। यह संभव हुआ क्योंकि हमारी सरकार ने नई नीतियां बनाई हैं : पीएम मोदी
हमारी सरकार ने स्वामिनाथन आयोग की सिफारिशों को न सिर्फ लागू किया: पीएम मोदी
हमारी सरकार ने स्वामिनाथन आयोग की सिफारिशों को न सिर्फ लागू किया बल्कि यह भी सुनिश्चित किया कि किसानों को एमएसपी का डेढ़ गुना दाम मिले : पीएम मोदी
हम अन्नदाता को ऊर्जादाता भी बनाना चाहते हैं : पीएम
जब हम किसानों की समस्या के समाधान की बात करते हैं तो पहले की सच्चाइयों को स्वीकार करना जरूरी है। पहले जिनके पास किसानों की समस्याओं का हल निकालने का जिम्मा था, उन्होंने शॉर्टकट निकाले, उन्होंने किसानों को सिर्फ मतदाता बना रखा। हम अन्नदाता को ऊर्जादाता भी बनाना चाहते हैं : पीएम