भोपाल/इन्दौर । वन विहार राष्ट्रीय उद्यान भोपाल में गत दिवस वयोवृद्ध तेंदुआ नैना की मृत्यु हो गई। नैना संभवत: देश की सबसे उम्रदराज तेंदुआ थी। आमतौर पर तेंदुआ की औसत आयु 18 से 20 वर्ष होती है। नैना को फरवरी 2005 में नीमच वन मंडल से 13 वर्ष की आयु में वन विहार लाया गया था। वन विहार प्रबंधन की विशेष देखभाल के कारण नैना ने अपनी औसत उम्र से अधिक जीवन प्राप्त किया।
संचालक श्रीमती समीता राजौरा ने बताया कि वृद्धावस्था के कारण तेंदुआ नैना का शरीर काफी कमजोर हो गया था। वन्‍य प्राणी चिकित्सक की देख रेख में इसका विशेष ध्यान रखा जा रहा था। नैना को किसी भी प्रकार की कोई बीमारी नहीं थी। कमजोरी के चलते उसे विटामिन और मिनरल्स दिये जा रहे थे। उसने दो दिन से खाना-पीना छोड़ दिया था।