जबलपुर। शुक्रवार को नगर निगम अमले के स्वास्थ्य विभाग ने सिविक सेंटर में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। इस दौरान अतिक्रमणकारियों ने विरोध किया। इसके बाद भी निगम का अमला डटा रहा। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने क्षेत्र में जमे ठेले-टपरे जब्त किए। साथ ही विरोधियों को चेतावनी भी दी गई। बहस के बीच अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जारी रही।
नगर निगम अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार की सुबह नगर निगम का अमला सिविक सेंटर में अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंचा था। इस दौरान कई कब्जाधारियों ने विरोध किया। आत्महत्या करने की भी धमकी दी गई, लेकिन कार्रवाई जारी रही। अतिक्रमण कार्रवाई के दौरान करीब दर्जन भर से अधिक अतिक्रमण हटाए गए। 
नालियों की हुई सफाई ...........
निगम अमला एक तरफ अतिक्रमण हटाता रहा। वहीं दूसरी ओर नालियों की सफाई भी की गई। दरसल कब्जाधारियों के कारण नालियों की सफाई में लगातार परेशानी हो रही थी। संक्रामक बीमारियों को खतरा बढ़ रहा था। लगातारा हो रही शिकायतों के बाद निगम अमले ने अतिक्रमण हटाने और नालियों की सफाई का काम एक साथ किया।
यहां भी हुई कार्रवाई ...........
नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग ने सिविक सेंटर में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। इसके साथ ही सब्जीमंडी, गोहलपुर, दमोहनाका, सिविल लाइन सहित कई क्षेत्रों में अतिक्रमण हटाए गए। इस दौरान कुछ लोगों ने विरोध भी किया, लेकिन कार्रवाई जारी रही। कार्रवाई के दौरान स्वास्थ्य अधिकारी जीएस चंदेल, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी केके दुबे, लक्ष्मी राज, दल प्रभारी मुकेश पारस, नरेन्द्र कुशवाहा सहित अन्य मौजूद रहे।
परेशानी का सबब बने टपरे ...........
दरसल सिविक सेंटर में चारों ओर लगने वाले ठेले और टपरे परेशानी का सबब बने हुए हैं। नालियों के पास लगने वाले इन ठेलों की सारी गंदगी नालियों में बहाई जा रही थी। जिससे नालियां बजबजाने लगी थीं। गंदगी होने की लगातार शिकायतों के बाद निगम अमले ने शुक्रवार को कार्रवाई की।