गृह निर्माण प्रारंभ करने का भी शुभ मुहूर्त होता है। जी हां, जिस प्रकार वैदिक ज्योतिष में कई भी बड़ा कार्य करने से पहले शुभ-अशुभ मुहूर्त देखा जाता है, ठीक इसी प्रकार वास्तुशास्त्र में भी गृह निर्माण से संबंधित शुभ मुहूर्त होते हैं। हिंदी कैलेंडर के अनुसार, किस माह में घर के निर्माण का कार्य शुरू कराने या गृह प्रवेश करने का कैसा प्रभाव होता है, यहां जानें…
वास्तु शास्त्र पर कई पुस्तकें लिख चुके वास्तुविद कुलदीप सलूजा ने अपनी पुस्तक ‘संपूर्ण सायंटिफिक वास्तु’ में बताया है कि चैत्र मास में जिस घर के निर्माण का कार्य शुरू किया जाता है, उस घर में रहनेवाले लोगों को आर्थिक हानि उठानी पड़ती है।
अगर आप अपने घर का निर्माण वैशाख के महीने में शुरू कराते हैं तो इस घर में रहने पर आपके परिवार के लोगों को हर कार्य में सफलता की प्राप्ति होगी। परिवार में खुशियां रहती हैं और आप नित नई ऊंचाई को प्राप्त करते हैं।
जिस घर का निर्माण कार्य ज्येष्ठ के महीने में शुरू किया जाता है, उस घर में रहनेवाले लोगों को जीवन पर्यंत शत्रुओं से भय बना रहता है। इसलिए इससे परहेज करना बेहतर है।

अगर आप अपने घर का निर्माण कार्य आषाढ़ मास में शुरू कराते हैं या इस महीने में नए घर में प्रवेश करते हैं तो आकस्मिक भय आपको सता सकता है।