भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कल यानी शनिवार से 3 मैचों की वनडे सीरीज का सिडनी में आगाज करेगी. टीम इंडिया टेस्ट सीरीज जीतकर इतिहास रचने के बाद अब वनडे सीरीज में भी कंगारुओं को पटखनी देने के इरादे से उतरेगी. लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने अपने इरादे साफ कर दिए हैं. सिडनी वनडे से एक दिन पहले यानी आज टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उनका फोकस इस साल इंग्लैंड में होने वाले 2019 वर्ल्डकप पर है. 
भारत कल 12 जनवरी से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज खेलने उतरेगा. तीन मैचों की वनडे सीरीज 18 जनवरी को समाप्त होगी. ऑस्ट्रेलिया के बाद भारत न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में भाग लेगा. इसके बाद टीम इंडिया भारत में भी कंगारुओं के खिलाफ 5 वनडे खेलेगी. कोहली ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच संग वर्ल्ड कप ट्रॉफी के साथ तस्वीरें भी खिंचवाई.
2019 में विराट कोहली के सामने सबसे बड़ी चुनौती है इंग्लैंड में होने वाला 50 ओवरों का क्रिकेट वर्ल्ड कप. कोहली की कप्तानी का लिटमस टेस्ट इसी टूर्नामेंट में होगा. 2019 वर्ल्ड कप ही कोहली की कप्तानी की दशा और दिशा तय कर सकता है. कोहली के पास कपिल देव और महेंद्र सिंह धोनी के क्लब में शामिल होने का मौका होगा.
1983 में भारत को कपिल देव ने पहली बार वर्ल्ड कप जिताया था. उसके ठीक 28 साल बाद महेंद्र सिंह धोनी ने भारत को 2011 का वर्ल्ड चैंपियन बनाया. अब 8 साल बाद विराट कोहली पर भारत को तीसरा वर्ल्ड कप का खिताब जिताने का जिम्मा है. भारत अगर 2019 का वर्ल्ड कप जीत लेता है, तो वह तीन खिताब के साथ ऑस्ट्रेलिया के बाद दूसरी सबसे कामयाब टीम बन जाएगा.
वर्ल्ड कप का इंग्लैंड में होना विराट कोहली के लिए एडवांटेज हो सकता है, क्योंकि दो साल पहले कोहली इसी धरती पर वर्ल्ड कप की ड्रेस रिहर्सल कर चुके हैं. 2017 में कोहली ने इंग्लैंड में खेले गए मिनी वर्ल्ड कप यानी चैंपियंस ट्रॉफी में भारत को टूर्नामेंट के फाइनल तक पहुंचाया था. लेकिन, इस बार फैंस को उम्मीद होगी कि भारत को चैंपियंस ट्रॉफी 2017 उपविजेता बनाने वाले कोहली इस बार भारतीय टीम को वर्ल्ड कप जितवा दें.