वार्षिक राशिफल 2019: मेष राशि (टो,पा ,पी ,पू ,पे,ण,ठ ) |
इस वर्ष इस राशि मॆ शनि भाग्य स्थान मॆ भ्रमण कर रहा है,जो राज्य से भाग्यवर्धक लाभ को दर्शा रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः तीसरे तथा भाग्य भाव मॆ आकर कर्मक्षेत्र मॆ आकस्मिक बदलाव का कारण बनेगा,तीसरे भाव का राहु पराक्रम मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही भाग्य स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,अष्टम स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से रुकावट आर्थिक समस्या की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।


महिलाओं के लिये-यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।


व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग- इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से अनुकुल है, विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग। किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,आर्थिक कार्यों मे आपको विशेष सफलता प्राप्त होगी,यह वर्ष आपके लिये राज्य से विशेष सफलता के संकेत दे रहा है।

विद्यार्थी वर्ग-प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष विशेष सफलता दायक रहेगा, आपके प्रयासों मॆ सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे,प्रयासों मॆ सफलता के योग, पंचमेष शनि की चतुर्थ भाव मे स्थिति शिक्षा सम्बंधी तनाव का संकेत दे रहा है। अपने वरिष्ठ जनों की सलाह पर अमल करें, आलस्य ,विलासिता, प्रेम सम्बन्ध दोस्ती यारी आपके लिये संकटपूर्ण स्थिति खड़ी करेगा इन सबसे बचें यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो अन्यथा परिणाम प्रतिकूल हो एकाग्रचित्त रहें। सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी।


स्वास्थ्य-इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये शुभ परिणाम प्राप्त  होंगे, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। अष्टम भाव का गुरु आपको पाचनतंत्र से जुड़ी तकलीफ दे सकता है,

खानपान-से जुड़ी  बीमारियों से आपको सावधानी बरतना चाहिये। शनि की छठे भाव मे दृष्टि है इसीलिये चिंता की कोई बात नही किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।


वास्तु और दिशा-इस राशि के लिये उत्तर और पूर्वोत्तर दिशा अत्यंत शुभ होती है दूसरा भाग्य स्थान मॆ स्थित शनि और केतु इस समय आपके लिये उत्तर दिशा से आर्थिक क्षेत्र मे अच्छे परिणाम मिलने के संकेत दे रहा है। दक्षिण पश्चिम दिशा मे जाकर किया गय़ा कार्य हानिकारक हो सकता है। आपके लिये समय शुभ फलदायक है।


प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपको महत्वपूर्ण सफलता देगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा,वर्षान्त मॆ आपको यह सफलता मिलेगी,इस समयावधि मॆ आपके मंगल परिणय के योग भी बन सकते है।


पूजा पाठ, इष्ट आराधना-आपकी इष्ट देव हनुमानजी तथा भगवान दत्तात्रेय है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। गुरु के अष्टम भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको  पीपल मॆ दीपक लगाना चाहिये। भगवान दत्तात्रेय तथा गुरुओं की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।


जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।


फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।


मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।


अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।


मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।


जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।


जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।


अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।


सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।


अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।


नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।


दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

वार्षिक राशिफल 2019: वृषभ (ई,ऊ,ए,ओ,वा,वी,वू,वो)
इस वर्ष इस राशि मॆ शनि अष्टम भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो राज्य से आनेवाली जटिल समस्याओं की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः दूसरे तथा अष्टम भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,दूसरे भाव का राहु संचित धन मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही अष्टम  स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,सप्तम स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।
महिलाओं के लिये-यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।
व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग-इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से मिश्रित सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।
विद्यार्थी वर्ग
प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष थोड़ा कष्टकारी हो सकता है, शनि की पंचम भाव मॆ दृष्टि आपके प्रयासों मॆ रुकावट के संकेत दे रहा है,जिसमें एकाग्रता से ही सफलता  प्राप्ति के योग बनेंगे,प्रयासों मॆ सफलता के योग, अष्टम भाव मॆ स्थित  शनि की पंचम भाव मे दृष्टि शिक्षा सम्बंधी तनाव का संकेत दे रहा है। इन सबसे बचें यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो अन्यथा परिणाम प्रतिकूल हो एकाग्रचित्त रहें। सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी।


स्वास्थ्य-इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी प्रतिकूलताओं से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। अष्टम भाव का शनि और केतु आपको पैरो के दर्द 
से जुड़ी  बीमारियों दे सकता है,शनि की पंचम भाव मॆ दृष्टि उदरजनित रोगॊ से कष्ट दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।
वास्तु और दिशा-इस राशि के लिये पश्चिम दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष गुरुग्रह की लग्न लाभ तथा पराक्रम भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये। प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित  होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा, मिलेगी,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है। रत्न सलाह-हीरा,पन्ना तथा नीलम आपके लिए भाग्यवर्धक रत्न है। 


पूजा पाठ, इष्ट आराधना-आपकी इष्ट देव भैरवजी तथा देवी महाकाली है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि के अष्टम भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये। भगवान भैरवनाथ तथा  शनिदेव की  पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।


फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।


मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।


अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।


मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।


जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।


जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।


अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।


सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।


अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

वार्षिक राशिफल 2019: मिथुन(का,की,कू,घ,छ,के,को ह)

2019 और ग्रह स्तिथि इस वर्ष इस राशि मॆ शनि सप्तम भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो परिवार तथा व्यापार मॆ आनेवाले परिवर्तन की ओर ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः लग्न तथा सप्तम भाव मॆ आकर व्यापारिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,प्रथम भाव का राहु मान सम्मान मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही सप्तम स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,अष्टम स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ होने वाली परेशानियों की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के लोगो को साझीदारी से सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से मिश्रित सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष थोड़ा कष्टकारी हो सकता है, गुरु की छठे भाव मॆ उपस्थिति आपके प्रयासों मॆ रुकावट के संकेत दे रहा है,जिसमें एकाग्रता से ही सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे,इन सबसे बचें यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो अन्यथा परिणाम प्रतिकूल हो एकाग्रचित्त रहें। सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी।

स्वास्थ्य इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी प्रतिकूलताओं से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, उदर विकार खानपान से जुड़ी समस्या का सामना करना होगा आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा,सप्तम भाव का शनि और केतु आपको पैरो के दर्द से जुड़ी बीमारियों दे सकता है,शनि की चतुर्थ भाव मॆ दृष्टि हृदयजनित रोगॊ से कष्ट दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये पूर्व दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष शनि की लग्न, भाग्य तथा चतुर्थ भाव मॆ दृष्टि आपको पश्चिम दिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

रत्न सलाह-पन्ना, गोमेध और नीलम आपके लिए भाग्यवर्धक रत्न है, महिलाए सफेद पुखराज भी पहन सकती है।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा,लेकिन वैवाहिक सम्बंधों मॆ दिक्कत और परेशानी हो सकती है, मिलेगी,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव भैरवजी तथा देवी महाकाली है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि के अष्टम भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये। भगवान भैरवनाथ तथा शनिदेव की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ समय व्यतीत होगा,गुप्त कार्य होगा, सफलता प्राप्ति के योग।

फरवरी-राज्यपक्ष से भाग्यवर्धक यात्रा का योग, सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-राज्य से मान सम्मान और प्रतिष्ठा वृद्धि का योग,अधिकार और प्रभुत्व मॆ वृद्धि का योग,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-मान सम्मान प्रतिष्ठा वृद्धि का योग,व्यापार मॆ लाभ होगा,मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-व्यर्थ की यात्रा से दूर रहें,इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।

जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ दिक्कतों को योग,अपयश और बदनामी हो सकती है,सावधान रहे,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें,दुर्घटना से बचे और स्वास्थय का ध्यान रखे।

अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,खिलाड़ी,व्यापारी वर्ग के लिये श्रेष्ठ समय।

अक्टूबर-मानसिक शांति ज्यादा महत्वपूर्ण है समय और परिस्थिति के अनुसार धैर्य रखेंगे तो अच्छा महसूस करेंगे,यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-आर्थिक लाभ मॆ वृद्धि होगी,धन आगमन होगा,व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-रोग,ऋण,शत्रु पस्त होंगे,पराक्रम मॆ वृद्धि होगी,जीवनसाथी और साझीदार का ध्यान रखे,कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

वार्षिक राशिफल 2019: कर्क(ही,हू,हो,डा,डी,डू,डे,डो)

इस वर्ष इस राशि मॆ शनि छठे भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो राज्य से आनेवाली जटिल समस्याओं के समाधान की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः व्यय तथा छठे भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,व्यय भाव का राहु आकस्मिक व्यय तथा विदेश से सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही छठे स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,पंचम स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग-पदोन्नति तथा मानवृध्दि के योग, इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से खास सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।

विद्यार्थी वर्ग-गुरु की पंचम भाव मे बैठकर लगन भाग्य और लाभ मे दृष्टि आपको प्रतियोगि परीक्षा आदि मे खास सफलता दिला सकता है, शनि की छठे भाव मॆ उपस्थिति आपके प्रयासों मॆ सफलता के संकेत दे रहा है,एकाग्रता से ही सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे,प्रयासों मॆ सफलता के योग, इlयदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो एकाग्रचित्त रहें। सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी, इस वर्ष मन लगाकर पड़े गुरुजनों का आशीर्वाद लें निश्चित रुप से आपको खास सफलता मिलेगी।

स्वास्थ्य इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये शानदार हो सकता है, पुरानी बीमारी से राहत, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे सफलता मिल सकती है जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,छठे भाव का शनि और केतु आपको रोग, ऋण, शत्रु पर विजय दिलाएगा किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये उत्तर दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष गुरुग्रह की लग्न लाभ तथा भाग्य भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से सर्वश्रेष्ठ शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

रत्न सलाह-इस राशी के लिए पुखराज, मूंगा मोती भाग्यवर्धक रत्न है, इस राशी वालो को पुखराज अवश्य धारण करना चाहिए।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा, इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है, गुरु ग्रह की कृपा से आपके जीवन मे शुभ मांगलिक कार्यो मे वृध्दि होगी।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव भगवान शिव तथा भगवान दत्तात्रेय है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे।गुरु के पंचम भाव से सम्बंधित लाभ प्राप्ति के लिये आपको गुरु मंदिर मॆ दीपक लगाना चाहिये। भगवान शिव तथा हनुमानजी की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।

फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।

जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

वार्षिक राशिफल 2019: सिंह(मा,मी,मू,मॆ,मो,टा,टी,टू,टे)

इस वर्ष इस राशि मॆ शनि पंचम भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो राज्य से आनेवाली जटिल समस्याओं की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः पांचवे तथा लाभ भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,लाभ भाव का राहु संचित धन मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही पंचम स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,चतुर्थ स्थान मॆ गुरु की स्थिति सामाजिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है, कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी मिश्रित सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के रुकावट के बाद सफलता का योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से शुभ सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग गुरु की राज्य स्थान मे दृष्टि भाग्य से पदोन्नति के योग बनाएगा,शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष थोड़ा कष्टकारी हो सकता है, शनि की पंचम भाव मॆ उपस्तिथि आपके प्रयासों मॆ रुकावट के संकेत दे रहा है,जिसमें एकाग्रता से ही सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे,शनि तथा केतु की पांचवे भाव मे स्थिति प्रतियोगी परीक्षा तथा शिक्षा के दौरान अप्रत्याशित रुकावटों से आपका शिक्षा से ध्यान भंग हो सकता है ,इन सबसे बचें यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो एकाग्रचित्त रहें। सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी।

स्वास्थ्य इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी प्रतिकूलताओं से भरा हो सकता है, पेटदर्द उदरविकार सिरदर्द आदि की समस्या का सामना करना पड़ सकता है, शनिदेव की ग्रह शांति और पूजापाठ से आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। से जुड़ी बीमारियों दे सकता है,किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये दक्षिण दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष गुरुग्रह की व्यय चतुर्थ तथा अष्टम भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

रत्न सलाह-आपके भाग्य रत्न माणिक और मूंगा है,धातु ताम्बा पुखराज भी आपको शुभ परिणाम दे सकता है। प्रे

म प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये अशुभ साबित हो सकता है,प्रेमी से अलगाव हो सकता है,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ संयम व तालमेल बनाकर कार्य भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव हनुमानजी जी तथा भगवान विष्णु है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि के पंचम भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको हनुमानजी के मंदिर मॆ शनिवार के दिन घी का दीपक लगाना चाहिये।शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।

फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।

जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

वार्षिक राशिफल 2019: कन्या(ढो,पा,पी,पू,ष,ण,ठ,पे,पो)

इस वर्ष इस राशि मॆ शनि चतुर्थ भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो समाज से आनेवाली जटिल समस्याओं की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः चतुर्थ तथा राज्यभाव मॆ आकर कर्मक्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,राज्य भाव का राहु नौकरी रोजगार मे वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही चौथे स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विदेश मे सफलता का संकेत दे रहा है,सप्तम स्थान मॆ गुरु की दृष्टि विवाह तथा आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है, विवाह, प्रेमप्रसंगो मे सफलता का योग, मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग-राज्य स्थान से उच्च के राहु का भ्रमण इस वर्ष आपके व्यवसाय नौकरी मे बड़ा परिवर्तन दे सकता है, जो की आपके लिए फायदे मंद हो सकता है , यह वर्ष आपके लिए विशेष रुप से चमत्कारिक सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष थोड़ा कष्टकारी हो सकता है, शनि की लगन भाव मॆ दृष्टि तथा राज्य भाव मे दृष्टि आपके प्रयासों मॆ रुकावट के संकेत दे रहा है एकाग्रता से ही सफलता के योग चतुर्थ भाव मॆ स्थित शनि के कारण शिक्षा सम्बंधी तनाव रहेगा, इन सबसे बचें यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो एकाग्रचित्त रहें।

स्वास्थ्य इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी प्रतिकूलताओं से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, हृदय विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। चतुर्थ भाव शनि और केतु आपको पैरो और घुटनो से जुड़ी बीमारियों दे सकता है,शनि की लगन भाव मॆ दृष्टि शिरो रोगॊ से कष्ट दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये पूर्व दिशा अत्यंत अनुकुल होती है, इस दिशा मे किया गया कार्य व्यापार फलित होगा, इस वर्ष गुरुग्रह की सप्तम भाग्य तथा लाभ भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा, मिलेगी,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव भैरवजी तथा देवी दुर्गा है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि के चतुर्थ भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये। भगवान भैरवनाथ तथा शनिदेव की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।

फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।

जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

 

वार्षिक राशिफल 2019: तुला(रा,री,रू,रे,रो,ता,ती,तू,ते)

इस वर्ष इस राशि मॆ शनि तीसरे भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो विदेश यात्रासे होनेवाले भाग्यवर्धक परिवर्तन की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः भाग्य तथा तीसरे भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,भाग्य भाव का राहु भाग्य मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही तीसरे स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,दूसरे स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है, खेल, सेना, पुलिस तथा मार्केटिंग के क्षेत्र मे कार्य करने वाले के लिए विशेष सफलता मिलने वाली है।

महिलाओं के लियेइस राशी की महिलाओ के लिए यह वर्ष खास सफलता देने वाला है,बाहरी यात्रा सफल होगी, विदेश से सफलता के समाचार प्राप्त होंगे, जो महिलाए खेलकूद या किसी व्यापार से जुड़ी है उन्हे विशेष सफलता के योग बनेंगे यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से मिश्रित सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये खास सफलतादायक रहेगा शनि की तीसरी भाव मे उपस्तिथि आपके प्रयासों मॆ सफलता के संकेत दे रहा है,जिसमें एकाग्रता से ही सफलता के योग बनेगे, तीसरे भाव मॆ स्थित शनि की पंचम भाव मे दृष्टि शिक्षा सम्बंधी सफलता का संकेत दे रहा है। यदि इस वर्ष आप सफलता चाहते है तो एकाग्रचित्त रहें। सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी।

स्वास्थ्य यह वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी अनुकुलता से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। तीसरे भाव का शनि और केतु आपको पैरो के दर्द से जुड़ी बीमारियों राहत दे सकता है,शनि की पंचम भाव मॆ दृष्टि उदरजनित रोगॊ से कष्ट दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये पश्चिम दिशा अत्यंत अनुकुल होती है भाग्य भाव मे राहु की उपस्तिथि पूर्व दिशा से भी इस वर्ष लाभ मिल सकता है आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा, मिलेगी,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव भैरवजी तथा देवी महाकाली है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि के अष्टम भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये। भगवान भैरवनाथ तथा शनिदेव की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।

फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।

जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

 

वार्षिक राशिफल 2019: वृश्चिक(तो,ना,नी,नू,ने,नो,या,यी यू)

इस वर्ष इस राशि मॆ शनि धन भाव मेँ केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो प्रॉपर्टी के रुप मे आनेवाली संचित आर्थिक समृध्दि की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः दूसरे तथा अष्टम भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,दूसरे भाव का केतु संचित धन मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही अष्टम स्थान मे उच्च राशी का राहु किसी विवाद और जटिल समस्या की और संकेत कर रहा है,लगन स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से मिश्रित सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष विशेष लाभकारी हो सकता है, गुरु की पंचम भाव मॆ दृष्टि आपके प्रयासों मॆ सफलता के संकेत दे रहा है , अष्टम भाव मॆ स्थित राहु की दूसरे भाव मे दृष्टि शिक्षा सम्बंधी तनाव का संकेत दे रहा है, गुरुवार का व्रत करें,तर्जनी अंगुली मे पुखराज या सुनहला धारण करेंगे तो शिक्षा प्रतीयोगी परीक्षा मे शानदार सफलता के योग बनेंगे।

स्वास्थय इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी प्रतिकूलताओं से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा दूसरे भाव का शनि और केतु आपको मुंह से जुड़ी बीमारियों दे सकता है,शनि की चौथे भाव मॆ दृष्टि हृदयजनित रोगॊ से कष्ट दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये उत्तर दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष गुरुग्रह की लग्न से पंचम सप्तम तथा भाग्य भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से शुभ लाभ का संकेत दे रही है लाभ लें।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा, मिलेगी,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव भगवान भोलेनाथ, हनुमान जी तथा भगवान दत्तात्रेय है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये। भगवान भैरवनाथ तथा शनिदेव की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा, साईंबाबा तथा गुरु की सेवा से सभी कार्य सिद्ध होंगे।

जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।

फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।

जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

वार्षिक राशिफल 2019: धनु(ये,यो,भा,भी,भू,भा,फा,ढा, भे)

इस वर्ष इस राशि मॆ शनिलग्न भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो राज्य व्यापार से आनेवाली जटिल समस्याओं की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः सप्तम तथा लग्न भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण सप्तम भाव का राहु संचित धन मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही लग्न स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,व्यय स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र से होने वाले व्यय की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है,कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी सम्बन्ध मे है तो सावधानी बरतें,शंका से अलगाव का योग बनेगा, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से मिश्रित सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष थोड़ा कष्टकारी हो सकता है, शनि की लग्न भाव मॆ स्थिति आपके प्रयासों मॆ रुकावट के संकेत दे रहा है,जिसमें एकाग्रता से ही सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे लग्न मॆ स्थित शनि केतु परिश्रम तनाव का संकेत दे रहा है। इन सबसे बचें यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो एकाग्रचित्त रहें। सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी।

स्वास्थ्य इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी प्रतिकूलताओं से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। अष्टम भाव का शनि और केतु आपको पैरो के दर्द से जुड़ी बीमारियों दे सकता है,शनि की सप्तम व राज्यभाव मॆ दृष्टि उदरजनित रोगॊ से कष्ट दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये उत्तर दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष गुरुग्रह की चतुर्थ छठे तथा अष्टम भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये अशुभ साबित होगा,जीवनसाथी तथा प्रेमिका से तनाव झ्गडो की सम्भावना रहेगी इस समयावधि मॆ आपका अपने प्रेमी से अलगाव भी हो सकता है,समय कठिन है,व्यर्थ की शंका कुशंका से दूर रहे,संयम से अपने रिश्तों को निभाये।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव दत्त भगवान तथा सुर्यदेव है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि के लग्न भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये। भगवान भैरवनाथ तथा शनिदेव की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।

फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।

जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

वार्षिक राशिफल 2019: मकर(भो,जा,जी,खी,खू,खे,खो,गा गी)

इस वर्ष इस राशि का स्वामी शनि व्यय भाव मॆ केतु के साथ भ्रमण करेगा,जो राज्य से आनेवाली जटिल समस्याओं के समाधान की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः छठे तथा व्यय भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का कारण बनेगे,छठे भाव का राहु संचित धन मॆ वृध्दि तथा जीवन मॆ विशेष सफलता की ओर संकेत कर रहा है,वही व्यय स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विदेश मॆ भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,लाभ स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग इस वर्ग के लिये यह वर्ष विशेष रुप से मिश्रित सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष थोड़ा लाभकारी हो सकता है, गुरु की पंचम भाव मॆ दृष्टि आपके प्रयासों मॆ सफलताओं के संकेत दे रहा है,एकाग्रता से ही सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे,प्रयासों मॆ सफलता के योग, व्यय भाव मॆ स्थित शनि महाराज आपको सभी प्रकार की समस्याओं मॆ विजय दिलायेंगे, यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो एकाग्रचित्त रहें।

स्वास्थ्य-शनि की छठे भाव मॆ दृष्टि तथा राहु की इस भाव मॆ उपस्थिति स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये थोड़ी अनुकूलता से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। व्यय भाव का शनि कीआपको पैरो के दर्द से जुड़ी बीमारियों से राहत मिलेगी साथ ही उदरजनित रोगॊ के कष्टों से मुक्ति मिलेगी,किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को और बेहतर करेगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये पश्चिम दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस दिशा मॆ जाकर किये गये कार्य आपको फलीभूत होंगे,इस वर्ष गुरुग्रह की सप्तम पंचम तथा पराक्रम भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा, मिलेगी,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव भैरवजी तथा देवी महाकाली है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि के व्यय भाव से सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये। भगवान भैरवनाथ तथा शनिदेव की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-राजकीय कार्य मॆ सफलता मिलेगी,मान प्रतिष्ठा मॆ वृद्धि होगी,शासकीय कार्यों मॆ सफलता प्राप्ति के योग।

फरवरी-इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-इस माह आपको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें,अन्यथा नुकसान की सम्भावना है।

जून-व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-समय ठीक नही,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-यह माह आपके मान सम्मान कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

वार्षिक राशिफल 2019: कुम्भ (दी,दू,थ,झ,दे,दो,चा,ची) 

इस वर्ष इस राशि मॆ शनि लाभ भाव से केतु के साथ भ्रमण कर रहा है,जो राज्य से आनेवाली सफलताओं की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः पंचम तथा लाभ भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,पांचवे भाव का राहु संतान,शिक्षा,मित्र पक्ष की ओर से बड़ी समस्या की ओर संकेत कर रहा है,वही लाभ स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,राज्य स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये यह वर्ष इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपके कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग इस राशि के लिये यह वर्ष विशेष रुप से अच्छी सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष विशेष लाभकारी हो सकता है, शनि की लग्न भाव मॆ दृष्टि आपके प्रयासों मॆ सफलता के संकेत दे रहा है,जिसमें एकाग्रता से ही सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे,लाभ भाव मॆ स्थित शनिकेतु की युति अचानक बड़ी सफलता का संकेत दे रहीहै,यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो अन्यथा परिणाम प्रतिकूल हो एकाग्रचित्त रहें। सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी।

स्वास्थ्य इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये समय सफलता से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। लाभ भाव का शनि और केतु आपको पैरो के दर्द से जुड़ी बीमारियों से राहत दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये पश्चिम दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष गुरुग्रह की धन चतुर्थ तथा छठे भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये शुभ साबित होगा,मनपसंद प्रेम मिलेगा, मिलेगी,इस समयावधि मॆ आप अपने प्रेमी के साथ सुखद प्रवास भी कर सकते है,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपकी इष्ट देव भैरवजी तथा देवी महालक्ष्मी है इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि केतु के लाभ भाव मॆ होने से आकस्मिक लाभ मॆ वृद्धि होगी, सम्बंधित कष्टों से राहत के लिये आपको भैरव मंदिर मॆ चौमुखा दीपक लगाना चाहिये। भगवान भैरवनाथ तथा शनिदेव की पूजा आपको विशेष लाभ देंगी। शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-व्यर्थ के अहंकार से बचें,राजकीय कार्य प्राथमिकता से पूर्ण करें अन्यथा दंड का योग,पत्नी के स्वास्थय की ओर खास ध्यान देना होगा।

फरवरी-राजकीय सामाजिक क्षेत्र मॆ मान प्रतिष्ठा वृद्धि के योग, इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-आर्थिक क्षेत्र मॆ खास सफलता राज्य से धनलाभ का योग,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-खेल,सेना,पुलिस तथा साहसपूर्ण कार्य करने वालो के लिये खास समय,मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-राज्य,शिक्षा,प्रकाशन के कार्यों मॆ लाभ व मानवृद्धि के योग,इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें।

जून-शिक्षा संतान तथा किसी विशेष निर्णय के कारण तनाव रहेगा,आत्मबल बनाये रखे,व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-रोग,ऋण,शत्रु का नाश होगा,विवादित कार्यों मॆ सफलता का योग,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-वित्तीय क्षेत्र मॆ जटिल स्थिति के निराकरण मॆ समय बीतेगा,परिवार व्यापार मॆ उग्रता त्यागे संयम से कार्य करें,इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-बाहरी क्षेत्रों मॆ व्यापार के लिये किया गया प्रवास आपको अच्छी सफलता देगा, कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-राज्यपक्ष मजबूत होगा,अधिकार व प्रभुत्व की वृद्धि होगी,व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-मान प्रतिष्ठा वृद्धि का योग,आमदनी मॆ वृध्दि होगी,कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

 

वार्षिक राशिफल 2019: मीन(दी,दू,थ,झ,दे,दो,चा,ची)

इस वर्ष इस राशि का स्वामी गुरु भाग्य भाव से भ्रमण कर आपके लिये महत्वपूर्ण अवसरों का सृजन कर रहा है,राज्य स्थान मॆ शनि का केतु के साथ भ्रमण राज्य से आनेवाली सफलताओं की ओर संकेत कर रहा है,मार्च मॆ राहु केतु स्थान परिवर्तन कर क्रमशः चतुर्थ तथा राज्य भाव मॆ आकर आर्थिक क्षेत्र मॆ आकस्मिक सफलता का का कारण बनेगा,चौथा भाव का राहु मकान,भवन,वाहन तथा स्थान परिवर्तन की ओर संकेत कर रहा है,वही राज्य स्थान मॆ उच्च राशि का केतु शनि के साथ मिलकर विशेष भाग्यवर्धक सफलता का संकेत दे रहा है,भाग्य स्थान मॆ गुरु की स्थिति आर्थिक क्षेत्र मॆ भाग्य से होने वाले आर्थिक लाभ की ओर संकेत कर रहा है,परिवार मॆ मांगलिक कार्य,धार्मिक यात्रा के योग बनायेगा, कुल मिलाकर 2019 आपके लिये मिश्रित सफलता लेकर आयेगा। परिवार मे मांगलिक कार्य हो सकते हैं। अविवाहितों के लिये विवाह सबंधि योग बन सकते है। घर मे कोई नया मेहमान भी आ सकता है। कोर्ट कचहरी के मामलो मे आपको सफलता मिलने के योग है।

महिलाओं के लिये-भाग्य भाव से गुरु ग्रह का भ्रमण और लग्न मॆ दृष्टि इस राशि की महिलाओ के लिये अच्छी सफलता देने वाला है। मांगलिक कार्यों के प्रबल योग, आप अविवाहित है तो विवाह के योग बनेंगे। यदि आप किसी प्रेम सम्बन्ध मे है तो प्रेम विवाह मे सफलता मिलेगी। घर मे नये मेहमान के आगमन का योग, नौकरी रोजगार मे सफलता प्राप्त होगी। किसी विवादित प्रकरण मे सफलता के योग। इस वर्ष आपके गुप्त शत्रु ख़त्म होंगे, आर्थिक क्षेत्र मे आपके लिये अच्छी ख़बर है इस वर्ष आपकी आय के स्त्रोतो मे वृद्धि होगी।

व्यापारी वर्ग इस वर्ष आपको कर्मक्षेत्र मॆ बड़ा परिवर्तन होने वाला है,नवीन कार्य मॆ सफलता प्राप्ति के योग,इस राशि के व्यापारियों के लिये समय अपेक्षित रूप से अच्छी सफलता देने वाला रहेगा। प्रतिद्वंदिता मे सफलता प्राप्त होगी, शत्रु परास्त होंगे, वित्तीय स्थिति मे सुधार होगा, आमदनी के स्त्रोत अनुकुल परिणाम देंगे, नवीन कार्यों का विस्तार होगा, साझीदारी से जुड़े कार्यों मे सफलता के योग, आर्थिक ऋण से जुड़ी समस्या हल होगी। आर्थिक लेनदेन सामजिक स्थिति मे सुधार होगा,धन प्राप्ति, वित्तीय प्रबंधन मे सफलता का योग, आपके कार्यों मे गुरुजनों का विशेष सहयोग मिलेगा, नये कामों की शुरुआत भी हो सकती है, आर्थिक क्षेत्र मे अपने करीबी लोगो से मदद मिलेगी, कामकाज मे वृद्धि के योग, नई योजनाओं का विस्तार होने का योग है, समय शुभ है,इसका लाभ उठाए।

कर्मचारी वर्ग इस राशि के लिये यह वर्ष विशेष रुप से अच्छी सफलता देने वाला है,विवादों से सामना होगा, कोर्ट कचहरी के कार्यों मे विवादों के पश्चात सफलता का योग, भाग्य से पदोन्नति के योग, शत्रु पक्ष के षडयंत्र, रोग आदि से राहत !!मिलेगी स्वयं के कार्यक्षेत्र मे उन्नति और प्रतिष्ठा वृद्धि के योग विशेष प्रयासों के बाद बनेंगे, किसी पुराने प्रकरण मे निर्णय आपके पक्ष मे हो सकता है। कोई पुरानी जाँच या शिकायत का निपटारा आपके पक्ष मे होगा,कर्मक्षेत्र मॆ जटिल समस्याओं के निराकरण मॆ विशेष रुप से समय व्यतीत होगा।

विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगि परीक्षार्थी, विधार्थियों के लिये यह वर्ष विशेष लाभकारी हो सकता है,गुरु की लग्न भाव मॆ दृष्टि आपके प्रयासों मॆ सफलता के संकेत दे रहा है,जिसमें एकाग्रता से ही सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे,राज्य भाव मॆ स्थित शनिकेतु की युति अचानक बड़ी सफलता का संकेत दे रहीहै,यदि इस वर्ष आप बेहतरीन परिणाम चाहते है तो सोशल मीडिया से दूरी बनायें अन्यथा व्यर्थ की परेशानी गले पड़ेगी।

स्वास्थ्य इस वर्ष स्वास्थ्य की दृष्टि से आपके लिये समय सफलता से भरा हो सकता है, जोड़ों मे दर्द, हार्नीया सम्बंधी कष्ट, उदर विकार, सिरदर्द आदि की समस्या का समाधान प्राप्त होगा,आपकी बीमारी का निश्चित समाधान आपको मिलेगा। राज्य भाव का शनि और केतु आपको पैरो के दर्द से जुड़ी बीमारियों से राहत दे सकता है, किसी भी प्रकार की स्वास्थय सम्बंधी परेशानी मे शांति बनाये रखने तथा आहार विहार मे सुधार रखने से ही लाभ होगा। यह वर्ष आपके स्वास्थय को अत्यंत अनुकुल रखेगा,पुराने रोगों मे सुधार भी होगा।

वास्तु और दिशा इस राशि के लिये उत्तर दिशा अत्यंत अनुकुल होती है इस वर्ष गुरुग्रह की लग्न पराक्रम तथा पंचम भाव मॆ दृष्टि आपको उत्तरदिशा से भी शुभ लाभ के संकेत दे रही है,इस वर्ष आपको इस दिशा का विशेषलाभ उठाना चाहिये।

प्रेम प्रसंग-प्रेम प्रसंग तथा विपरीत लिंगि सम्बंधों के लिये यह वर्ष आपके लिये ठीक नही होगा,इस समयावधि मॆ आप को विपरीत सम्बंधों मॆ विशेष सावधानी बरतना चाहिये,इस वर्ष आपके विवाह के योग भी बन सकते है।

पूजा पाठ, इष्ट आराधना आपके इष्ट देव दत्त महाराज तथा हनुमानजी है,इनकी सेवा से आपके सभी मनोरथ सिद्ध होंगे। शनि केतु के राज्य भाव मॆ होने से आकस्मिक लाभ मॆ वृद्धि होगी,राज्य पक्ष मॆ महत्वपूर्ण कार्य होंगे,नवीन उद्योग कामकाज की रूपरेखा बनेंगी, आपको गुरुवार को दत्त महाराज की सेवा पूजा व्रत करना चाहिये,शनिवार को हनुमानजी की सेवा तथा सुंदरकांड का पाठ सभी संकटों से पार करायेगा।

जनवरी-व्यर्थ के अहंकार से बचें,राजकीय कार्य प्राथमिकता से पूर्ण करें अन्यथा दंड का योग,पत्नी के स्वास्थय की ओर खास ध्यान देना होगा।

फरवरी-राजकीय सामाजिक क्षेत्र मॆ मान प्रतिष्ठा वृद्धि के योग, इस माह आपको सामाजिक कार्यों मॆ अपनी प्रतिष्ठा का विशेष ध्यान देना होगा,मकान,वाहन तथा माता के स्वास्थ्य का खास ध्यान रखे,खानपान मॆ सावधानी बरतें,महत्वपूर्ण निर्णय कुछ समय के लिये स्थगित करें,विद्यार्थीवर्ग शिक्षा मॆ लापरवाही न बरतें।

मार्च-आर्थिक क्षेत्र मॆ खास सफलता राज्य से धनलाभ का योग,कर्मक्षेत्र मॆ नये परिवर्तन की सम्भावना बनेंगी,इसीलिये शांतिपूर्ण ढंग से कार्य करे अच्छी सफलता प्राप्त होगी।

अप्रैल-खेल,सेना,पुलिस तथा साहसपूर्ण कार्य करने वालो के लिये खास समय,मांगलिक कार्य तथा व्यापार मॆ नवीन साझीदारी से लाभ का योग बनेगा,अविवाहित लोगो के लिये शुभ समय इस माह उनके लिये अच्छे प्रस्ताव आ सकते है।

मई-राज्य,शिक्षा,प्रकाशन के कार्यों मॆ लाभ व मानवृद्धि के योग,इस माह आपको जटिल और विवादित आर्थिक समस्याओं पर कार्य करना होगा,शासकीय कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण करें,पुराने लेनदेन की ओर ध्यान दे,वित्तीय गड़बड़ी तुरंत ठीक करें।

जून-शिक्षा संतान तथा किसी विशेष निर्णय के कारण तनाव रहेगा,आत्मबल बनाये रखे,व्यापारिक क्षेत्र मॆ भाग्यवर्धक सफलता का योग बनेगा,नवीन कार्यों के लिये यात्रा का योग बनेगा,बाहरी क्षेत्रों से नये व्यापार के अवसर खुलेंगे,राज्य से मदद मिलने के योग।

जुलाई-रोग,ऋण,शत्रु का नाश होगा,विवादित कार्यों मॆ सफलता का योग,कर्मक्षेत्र मॆ अपयश से बचें,शासकीय दंड,पेनल्टी का योग बनेगा,तत्सम्बध मॆ विशेष सावधानी बरतें,सोचसमझकर ही कोई व्यापार या नौकरी का परिवर्तन करें,किसी भी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करें।

अगस्त-वित्तीय क्षेत्र मॆ जटिल स्थिति के निराकरण मॆ समय बीतेगा,परिवार व्यापार मॆ उग्रता त्यागे संयम से कार्य करें,इस माह आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे,व्यापार मॆ लाभ के योग बनेंगे,आर्थिक कार्यों का विस्तार होगा,वित्तीय क्षेत्र मॆ सफलता मान सम्मान मॆ वृद्धि का योग।

सितम्बर-इस माह बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग बनेगा,व्यापार से जुड़ी नवीन समस्याओं के निराकरण हेतु शासकीय कार्यालयों और वित्तीय संस्थाओं के चक्कर काटने पडेंगे,निवेश के लिये ये माह ठीक नही,व्यय सोचसमझकर करें,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखे।

अक्टूबर-बाहरी क्षेत्रों मॆ व्यापार के लिये किया गया प्रवास आपको अच्छी सफलता देगा, कर्मक्षेत्र मॆ सफलता व्यापारिक लाभ तथा व्यक्तिगत आत्मसंतुष्टि के तौर पर शानदार रहेगा,विद्यार्थीवर्ग,वित्त विभाग तथा संचार के क्षेत्र मॆ कार्यरत लोगो के लिये शानदार सफलता का योग,इस समय का विशेष लाभ उठावे।

नवेंबर-राज्यपक्ष मजबूत होगा,अधिकार व प्रभुत्व की वृद्धि होगी,व्यापार मॆ लाभ के योग,मीठी वाणी सफलता का कारक बनेंगी,आर्थिक योग फलित होंगे,वित्तीय संस्थाओं से सफलता का योग,बेंक बॅलेन्स मॆ वृद्धि का योग,शानदार खानपान का योग।

दिसम्बर-मान प्रतिष्ठा वृद्धि का योग,आमदनी मॆ वृध्दि होगी,कलात्मक कार्यों की ओर रुचि मॆ वृद्धि होगी,गायन वादन लेखन की ओर मन जायेगा,भाई बहनों से मुलाकात होगी,बाहरी क्षेत्रों मॆ प्रवास का योग।

प.चंद्रशेखर नेमा"हिमांशु"