जबलपुर। स्वच्छता सर्वेक्षण को ध्यान में रखते हुये नगर निगम के अतिक्रमण और स्वास्थ्य अमले ने शहर के अलग-अलग हिस्सों में कार्यवाही की। इस दौरान कई स्थानों से ठेले-टपरे जब्त कर, गंदगी पैâलाने वालों के चालान काटे। नगर निगम अधिकारियों ने बताया कि सुबह-सुबह सबसे पहले दीनदयाल चौक पहुंचकर कार्रवाई की गई। जहां मार्ग पर स्टैंड ठेला लगाकर यातायात बाधित करने वालों के ठेले-ठपरे जब्त कर लिये। 
इसके बाद अमला इंदिरा मार्वेâट पहुंचा, जहां गंदगी पैâलाने वाले छोटे-बड़े २० व्यापारियों के चालान काटकर उन्हेंं दोबारा गंदगी न पैâलाने की नसीहत दी। बताया जा रहा है कि अब रोजाना अतिक्रमण दस्ते और स्वास्थ्य अमले द्वारा इस प्रकार की कार्यवाही की जायेगी ताकि शहर को अतिक्रमण मुक्त और साफ-सुथरा बनाया जा सके। कार्यवाही के दौरान दल प्रभारी लक्ष्मण कोरी, राजू रैकवार, बमबम तिवारी, सीएसआई धर्मेंद्र राज और पोलाराव मौजूद थे। 
डर के भाग लोग
    नगर निगम की कार्यवाही का पहले आंशिक विरोध हुआ, किन्तु जब अतिक्रमणकारियों को आचार संहिता और धारा १४४ लागू होने की जानकारी दी गई तो सबके सब भागते नजर आये। निगम के अमले ने आज जिस तेजी से कार्यवाही की वह काबिले तारीफ थी। लोग इसे आचार संहिता का भी असर बता रहे थे। दुकानों के सामने लगे ठेले-टपरों के हटने के बाद पक्की दुकान वालों ने भी राहत की सांस ली। उनका कहना था कि साफ-स्वच्छ मार्वेâट पर सामने लगा टपरों का जमावड़ा बदसूरत दाग बन गया है। 
ढुलमुल कार्रवाई ........
किसी भी क्षेत्र में नगर निगम अतिक्रमण दस्ते की टीम पहुंचते ही वहां के अतिक्रमणकारियों में भगदड़ मच जाती है, किन्तु अमले के वहां से निकलते ही अतिक्रमणकारी दोबारा कब्जा करने में १० मिनिट भी नहीं लगाते, जिससे स्थिति फिर पहले जैसी हो जाती है। तो वहीं दूसरी ओर सड़क पर व्यापार करने वाले भी अतिक्रमण दस्ते पर बेवजह व्यापार करने का आरोप लगाते हुये कह रहे हैं कि वे रोड से हटकर व्यापार करते हैं फिर भी उनके खिलाफ आये दिन कार्यवाही की जाती है जिससे उनके परिवार के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो जाता है।