मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद EVM में गड़बड़ी की शिकायतों के बीच ग्वालियर में एक कथित हैकर पकड़ा गया है. इस हैकर ने भिंड से कांग्रेस प्रत्याशी रमेश दुबे को EVM हैक करने का झांसा दिया था. अब ये थाने की सलाखों के पीछे है.

कांग्रेस प्रत्याशी रमेश दुबे की शिकायत पर ग्वालियर पुलिस ने जिस तथाकथित हैकर अभय जोशी को पकड़ा है वो खुद को आईआईटी पासआउट और बंगलुरू का रहने वाला बता रहा था. उसने ये भी दावा किया कि ईवीएम हैक करना उसके लिए चुटकियों का काम है. उसने भिंड के कांग्रेस प्रत्याशी रमेश दुबे को झांसा दिया था कि वो एक चिप के ज़रिए ईवीएम हैक कर देगा. जब ईवीएम से काउंटिग होगी, तो रिजल्ट कांग्रेस के पक्ष में आने लगेंगे. हैकर के इस झांसे के बाद रमेश दुबे ने उसे ग्वालियर बुला लिया.

वो एक EVM हैकर करने के बदले रमेश दुबे से ढ़ाई लाख रुपए मांग रहा था. इस संबंध में हैकर और रमेश दुबे के बीच दो दिन से बातचीत चली और फिर दुबे ने इसकी शिकायत पुलिस में कर दी. पुलिस ने फौरन अभय को गिरफ़्तार कर लिया.

कथित हैकर अभय जोशी से पूछताछ की जा रही है.अब तक की पूछताछ में पता चला है कि वो सिर्फ 12वीं पास है और बंगलुरू का ना होकर उत्तर प्रदेश के जालौन का रहने वाला है.


पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि ये वाकई EVM हैकर है या फिर सिर्फ झांसा भर दे रहा था और अब तक क्या कुछ गड़बड़ी कर चुका है.