जबलपुर। बाबरी मस्जिद विध्वंस कांड की बरसी को लेकर जिले की पुलिस अलर्ट मोड पर आ गई है। शहर के सभी थानों में विशेष सर्चिंग अभियान चलाया जा रहा है। रेलवे स्टेशन, बस अड्डे, मॉल और भीड़भाड़ वाले इलाकों में सघन चैविंâग की गई। डॉग स्क्वाड और बम निरोधी दस्ते के साथ पुलिस जवानों ने संवेदनशील जगहों पर चैविंâग शुरू कर दी है। इस दौरान सड़क पर संदिग्ध लोगों की भी तलाशी ली जा रही है।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ६ दिसंबर को लेकर विशेष सतर्वâता बरती जा रही है। इसी कड़ी में शहर के सभी प्रमुख थानों में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। संदिग्ध लोगों पर नजर भी रखी जा रही है। वहीं भीड़भाड़ वाले इलाकों में सादी वर्दी में पुलिस तैनात की गई है। हलाकि अभी तक किसी भी संगठन ने रैली निकाले या फिर किसी सभा का ऐलान नहीं किया है। इसके बाद भी पुलिस प्रशासन ने ऐहतियात के तौर पर अपनी तैयारी शुरू कर दी है।
इसलिए अलर्ट पर पुलिस....................
६ दिसंबर १९९२ को अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद को लाखों की संख्या में पहुंचे कारसेवकों ने गिरा दिया था। जिसके बाद से पूरे देश में हिंसा पैâल गई थी। इस घटना के बाद से ही हिन्दुवादी संगठन प्रतिवर्ष इस दिन रैली निकालकर व आयोजन करके घटना को याद करते हैं। कई बार इस दौरान हिंसा भी हो जाती है, जिसके चलते पुलिस पहले से ही अलर्ट मोड पर आ गई है।
इस बार नहीं उत्साह.................
हिन्दुवादी संगठनों में इस बार ६ दिसंबर को लेकर कोई उत्साह नहीं देखा जा रहा है। दरअसल चंद दिनों पहले हुए चुनाव में व्यस्त रहने के कारण नेताओं ने कार्यक्रम को लेकर कोई रूपरेखा तैयार नहीं की है। बताया गया है कि इस दिन हिन्दूवादी संगठन नर्मदा में महाआरती करके हनुमान मंदिर में पूजन करेंगे।