नई दिल्ली: दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह सिर्फ अपनी गेंदबाजी ही नहीं, अपने बेबाक अंदाज के लिए भी जाने जाते हैं. हरभजन सिंह ने 2016 में यूएई के खिलाफ अपना आखिरी मैच खेला था. तब से वह टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं, लेकिन जब भी टीम इंडिया के समर्थन की बात आई तो वह कभी पीछे नहीं हटे. हाल ही में हरभजन सिंह को लेकर सोशल मीडिया पर एक झूठा बयान चल रहा है. इस बयान को लेकर हरभजन सिंह ने अपनी नाराजगी जाहिर की है. 

हरभजन सिंह ने सोशल मीडिया पर चल रहे इस झूठे कमेंट को लेकर अपना विरोध जताया है. दरअसल, सोशल मीडिया पर हरभजन सिंह के नाम से एक बयान चल रहा है, जिसमें कहा गया है- अगर टीम में रोहित शर्मा को न खिलाया गया तो वह ऑस्ट्रेलिया को सपोर्ट करेंगे.

बता दें कि हरभजन सिंह ने पहले रोहित शर्मा को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्लेइंग इलेवन में खिलाने को लेकर भी कमेंट किया था. अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस बयान को हरभजन सिंह ने फेक बताकर नाराजगी जाहिर की है. 


हरभजन सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा है कि झूठी बातों पर ध्यान मत दीजिए और टीम इंडिया को चीयर कीजिए. उन्होंने लिखा- मुझे नहीं पता कैसे लोग इस तरह की मूर्खतापूर्ण बातें सोशल मीडिया पर फैला रहे हैं. इन सबसे ध्यान हटाइए और टीम इंडिया को चीयर कीजिए. 
बता दें कि इस बात को लेकर लंबी बहस चल रही है कि रोहित शर्मा को प्लेइंग इलेवन में खिलाया जाना चाहिए या नहीं. दोनों देशों के बीच पहला टेस्ट 6 दिसंबर से एडीलेड में शुरू हो रहा है. बहुत से क्रिकेट पंडितों का यह भी कहना है कि रोहित शर्मा से पारी की शुरुआत करानी चाहिए. खासतौर पर केएल राहुल की खराब फॉर्म और 19 वर्षीय पृथ्वी शॉ के चोटिल होने के बाद. 

इस साल के शुरू में दक्षिण अफ्रीका में खराब प्रदर्शन के बाद रोहित को टीम से बाहर कर दिया गया था. वह इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट टीम में शामिल नहीं थे. 31 वर्षीय रोहित को छठे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए चुना गया है, लेकिन हनुमा विहारी ने अपने डेब्यू मैच में ही अर्द्धशतक लगा कर मजबूत दावेदारी पेश की है. प्रैक्टिस मैच में भी हनुमा विहारी ने क्रिकेट आस्ट्रेलिया इलेवन के खिलाफ अर्द्धशतक जमा कर इस दावे को और मजबूत किया है.