स्टार खिलाड़ी स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के बिना खेल रही कमजोर ऑस्ट्रेलियाई टीम 6 दिसंबर से भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज का आगाज करेगी.
विराट की सेना से कंगारू क्रिकेटर पहले ही खौफ में है और अब ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने भारतीय टीम का ध्यान भटकाने के लिए अपने पुराने हथकंडे अपनाना शुरू कर दिया है. 
कंगारू खिलाड़ियों की तरह वहां की मीडिया भी अपने बदतमीजी भरे अंदाज के लिए जानी जाती है. ऑस्ट्रेलिया के एक लोकप्रिय टेबलॉयड ने टीम इंडिया को 'डरपोक चमगादड़' कहकर अपमान किया है.
टेबलॉयड ने भारतीय खिलाड़ियों को एडिलेड पहुंचने के बाद डरपोक चमगादड़ कहा है. ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार रिचर्ड हाइंड्स ने एक आर्टिकल का फोटो सोशल मीडिया पर शेयर किया, जिसमें दावा किया गया कि चार मैचों की सीरीज के आयोजक स्थान पर टीम इंडिया को परेशानियों का सामना करना पड़ा है.
रिपोर्ट के मुताबिक, भारत को ब्रिस्बेन में 'उछाल', पर्थ में 'बिना किसी कारण' जबकि एडिलेड में 'अंधेरे' से डर है. एडिलेड वाली जानकारी व्यंग्य के रूप में दी गई है, क्योंकि टीम इंडिया ने यहां डे- नाइट टेस्ट खेलने से इंकार किया था.
टेबलॉयड की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी है. ऑस्ट्रेलियाई समेत कई क्रिकेट फैंस ने इस रिपोर्ट के प्रति अपना गुस्सा जाहिर किया और इसे 'बचपना' व 'अशिष्ट परंपरा' करार दिया.
भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कंगारू खिलाड़ी भारत के कप्तान विराट कोहली से डरे हुए हैं. 
कोहली की ताकत का ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों में इतना खौफ है कि पहले टेस्ट मैच से पूर्व ही उन्हें भारतीय कप्तान को आउट करने का हथकंडा सूझ रहा है.
आपको बता दें कि टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में 71 साल से टेस्ट सीरीज नहीं जीतने की नाकामी को भुलाकर विराट की कप्तानी में 6 दिसंबर से शुरू हो रही 4 मैचों की टेस्ट सीरीज इतिहास रचने के इरादे से उतरेगी.
स्टार खिलाड़ी स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के बिना खेल रही कमजोर ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ भारत को पहला टेस्ट मैच एडिलेड ओवल के मैदान पर खेलना हैं.
भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में पहली टेस्ट सीरीज साल 1947 में आजादी के बाद लाला अमरनाथ की कप्तानी में खेली थी. 
उस दौरे पर भारत को कंगारू टीम ने 5 मैचों की टेस्ट सीरीज में 4-0 से शिकस्त दी थी. 
भारत अब तक ऑस्ट्रेलिया की धरती पर टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाया है.
बता दें कि टीम इंडिया का ऑस्ट्रेलिया में रिकॉर्ड बेहद खराब रहा है, यहां भारतीय टीम ने कुल 44 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से उन्होंने महज 5 टेस्ट जीते हैं. इस दौरान भारतीय टीम को 28 टेस्ट मैचों में हार का सामना करना पड़ा है और 11 टेस्ट मैच ड्रॉ पर समाप्त हुए हैं.