इंदौर। स्वाइन फ्लू पॉजिटिव मरीजों के मिलने के साथ ही मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। शनिवार देर रात फिर एक मरीज की मौत के बाद इस बीमारी से मरने वाले लोगों की संख्या आठ हो चुकी है। शनिवार सुबह ही एक अन्य व्यक्ति की मौत भी हुई थी। पांच संदिग्ध मरीजों की जांच रिपोर्ट अभी आना बाकी है।
मौसम में आ रहे उतार-चढ़ाव ने स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या में इजाफा कर दिया है। नवंबर माह में चार लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं दिसंबर शुरू होते ही दो दिन में दो लोगों की मौत हो चुकी है। इसने विभाग को भी हैरत में डाल दिया है। स्वास्थ्य विभाग ने बचाव के लिए लोगों को अलर्ट भी किया है। इसके तहत अधिक दिनों तक बीमार रहने, बार-बार बुखार या सर्दी खांसी होने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाने के लिए सुझाव दिया है। सर्दी-खांसी के मरीजों से दूरी बनाए रखने सहित भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचने के निर्देश भी दिए गए हैं।
किसी व्यक्ति को सर्दी-खांसी होने पर इलाज कराने व खांसते या छींकते समय मुंह पर रूमाल रखने की समझाइश भी दी है। आईडीएसपी प्रभारी डॉ. अमित मालाकार ने बताया कि बॉम्बे अस्पताल में विजय नगर निवासी व्यक्ति को 22 नवंबर को भर्ती किया गया था। 23 नवंबर को स्वाइन फ्लू जांच के लिए सैंपल भेजे गए और 27 नवंबर को इसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

हालत गंभीर होने के बाद शनिवार देर रात उक्त मरीज की मौत हो गई। शनिवार सुबह एक अन्य व्यक्ति की मौत भी हुई थी। अब तक जिले से 364 मरीजों के सैंपल स्वाइन फ्लू जांच के लिए भेजे गए हैं। इनमें से 19 लोग पॉजिटिव पाए गए। बड़वानी जिले के एक मरीज सहित कुल आठ मौत स्वाइन फ्लू से हो चुकी है। अभी पांच लोगों की रिपार्ट आना बाकी है। वहीं डेंगू प्रभावित मरीज 350 हो चुके हैं।