नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बल्ले के रूठ जाने को लेकर पूरा देश परेशान है. हालांकि, अब भी उनके फैन्स और दुनियाभर के कई दिग्गज खिलाड़ी धोनी का समर्थन कर रहे हैं. महेंद्र सिंह धोनी का समर्थन करने वालों में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की टीम चेन्नई सुपर किंग्स के कोच स्टेफिन फ्लेमिंग भी शामिल हैं. जब एक तरफ धोनी की परफॉर्मेंस को लेकर जमकर आलोचना की जा रही है, ऐसे में फ्लेमिंग उनके समर्थन में आगे आए हैं. 

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग का मानना है कि 2019 के वर्ल्ड कप में महेंद्र सिंह धोनी भारत के लिए काफी अहम साबित हो सकते हैं और उन्हें टीम में शामिल किया ही जाना चाहिए. 

हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा, ''मुझे लगता है भारत के पास महेंद्र सिंह धोनी समेत अनेक विकल्प हैं. धोनी के पास अनुभव और गजब की ताकत है. पिछले आईपीएल में उनकी बल्लेबाजी उतनी ही अच्छी थी, जितनी होनी चाहिए.''
फ्लेमिंग ने कहा, ''उन्हें थोड़े आत्मविश्वास की जरूरत है. मुझे लगता है कि वह बड़े अंतरराष्ट्रीय मंच की प्रतीक्षा कर रहे हैं.'' बता दें कि इस साल महेंद्र सिंह धोनी ने 20 वनडे खेले हैं. उन्होंने 25 की औसत से 275 रन बनाए हैं. उन्होंने 2004 में केवल तीन मैच खेले थे और 9.50 की औसत से रन बनाए थे. जब से महेंद्र सिंह धोनी केवल लिमिटेड ओवर क्रिकेट खेल रहे हैं तब से उनकी फॉर्म को लेकर अनेक सवाल उठने लगे हैं.

गौरतलब है कि बीसीसीआई की एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने महेंद्र सिंह धोनी को वेस्टइंडीड के खिलाफ टी-20 और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 टीम से आराम देते हुए बाहर कर दिया था. धोनी को बाहर करते हुए तर्क दिया गया था कि टीम के लिए नए विकेटकीपर की तलाश की जा रही है और महेंद्र सिंह धोनी भी ऐसा ही चाहते हैं. 
महेंद्र सिंह धोनी अब केवल केवल लिमिटेड क्रिकेट खेल रहे हैं, लेकिन टी-20 टीम से बाहर होने के बाद अब धोनी के पास केवल 9 वनडे और शायद तीन टी-20 बचे हैं, जिनमें वह अपना भविष्य तय करेंगे. महेंद्र सिंह धोनी ने 331 वनडे में 50.11 की औसत से 10,173 रन बनाए हैं. जनवरी 2017 में उन्होंने वनडे और टी-20 क्रिकेट की कप्तानी छोड़ दी थी.
एक नजर में धोनी की उपलब्धियां
बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी ही हैं, जिन्होंने टीम इंडिया को पहला टी-20 वर्ल्ड कप का खिताब जितवाया था. वह प्रयोग करने में भी पीछे नहीं रहते. उनकी कूलनेस उन्हें बड़ा खिलाड़ी बनाती है. वह हार गुस्सा नहीं होते और जीत पर उत्तेजना उनके चेहरे पर नजर नहीं आती. महेंद्र सिंह धोनी अब तक 93 टी-20 खेल चुके हैं. वह 80 पारियों में 40 बार नाबाद रहते हुए 37.17 की औसत से 1487 रन बना चुके हैं. वहीं, वनडे क्रिकेट में धोनी ने अबतक 281 पारियों में 50.11 की औसत से 10173 रन बनाए हैं. टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके धोनी 144 टेस्ट पारियों में 38.09 की औसत से 4876 रन बना चुके हैं.  

महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्‍तानी में भारत को आईसीसी के तीनों बड़े टूर्नामेंट- टी-20 वर्ल्‍ड कप, चैंपियंस ट्रॉफी और वर्ल्‍ड कप जितवाए हैं. आईसीसी के तीनों बड़े टूर्नामेंट जितवाने वाले वह दुनिया के इकलौते कप्तान हैं. धोनी की कप्‍तानी में भारत ने 27 टेस्‍ट मैच जीते हैं और 2009 में पहली बार आईसीसी टेस्‍ट रैंकिंग में पहला पायदान हासिल किया था.