शरजाह: यूएई में चल रहे टी10 लीग के दूसरे संस्करण में नॉर्दर्न वारियर्स ने सुपर लीग के एलिमिनेटर मैच में मराठा अरेबियन्स पर 10 विकेट से शानदार जीत हासिल करते हुए टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बना ली. नॉर्दर्न वारियर अपने पहले ही क्वालिफायर मैच में पख्तून्स के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. इस मैच में मराठा अरेबियन्स ने दस ओवर में आठ विकेट के नुकसान पर 78 रन बनाए थे जिसे नार्दर्न वॉरियर्स ने बिना कोई विकेट गंवाए केवल पांच ओवर में ही हासिल कर लिया और फाइनल में जगह बना ली.

पिछलेसाल ही शुरू हुई टी10 प्रारूप  क्रिकेट के सबसे नया प्रारूप है जिसमें दोनों टीमों के बीच 10-10 ओवर का मैच होता है. यह मुकाबला केवल डेढ़ घंटे में ही खत्म हो जाता है. पिछले साल शरजाह में छह टीमों से इस लीग की शुरुआत हुई थी. दूसरे सीज में इस बार आठ टीमों ने भाग लिया है. इस बार भाग ले रही दो नई टीमों की फीस आयोजकों ने 400,000 डॉलर से बढ़ा कर 1.2 मिलियन डॉलर कर दी थी. 

ऐसे पहुंचे नॉर्दर्न वॉरियर्स फाइनल में
23 नवंबर से 2 दिसंबर तक होने वाले टूर्नामेंट के फाइनल में अब नॉर्दर्न वॉरियर्स का मुकाबला पख्तून्स से होगा. पख्तून्स ने पहले क्वालिफायर्स में नॉर्दर्न वॉरियर्स को ही हराकर फाइनल में जगह बनाई थी. वहीं नॉर्दर्न वॉरियर्स ने क्वालिफायर दो और क्वालिफायर तीन के विजेता मराठा अरेबियन्स को हराकर एलिमिनेटर में जगह बनाई थी. उससे पहले मराठा अरेबियंस ने बंगाल टाइगर्स को 7 विकेट से हरा कर एलिमिनेटर में जगह बनाई थी.  
एलिमिनेटर में हुए मैच में टॉस जीतकर नॉर्दर्न वॉरियार्स के कप्तान डैरेन सैमी ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. अरेबियन्स की शुरुआत बढ़िया रही पहले ही  ओवर में हजरतउल्ला जजाई और एलेक्स हेल्स ने 16 रन बटोरे. इसके बाद दूसेर ओवर से अरेबियंस के विकेट गिरने शुरू हो गए और पूरी टीम दस ओवर में 8 विकेट पर 72 रन ही जुटा सकी. जजाई ने सबसे ज्यादा 15 रन बनाए उसके बाद कप्तान ड्वेन ब्रावो ने 13 रन बनाए. बाकी कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सका. 

पूरन और सिमंस की तूफानी पारी
नॉर्दर्न वॉरियर्स के लिए निकोलस पूरन के साथ लिंडल सिमंस ने तूफानी पारी खेली और दोनों ने मिलकर 5 ओवर में ही 74 रन बनाकर अपनी टीम को फाइनल में पहुंचा दिया. सिमंस ने 14 गेंदों पर 31 रन बनाए तो पूरन ने 16 गेंदों में 43 रनों की आतिशी पारी खेली. वॉरियर्स के लिए हार्डस विल्जोएन ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए. उन्हें मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया.