मुंबई: बॉलीवुड में फिल्‍मों के प्रमोशन के लिए कई तरह के हथकंडे अपनाए जाते हैं. कभी शाहरुख खान फिल्‍म प्रमोशन के लिए मुंबई से दिल्‍ली की रेल यात्रा करते हैं तो कभी आमिर खान अपनी फिल्‍म के प्रमोशन के लिए कई जगह घाघरा पहने नजर आए थे. लेकिन मुंबई के अंधेरे पहलू को उजागर करती फिल्म "द डार्क साइड ऑफ लाइफ : मुंबई सिटी" के मेकर्स ने प्रमोशन का कुछ ऐसा तरीका अपनाया जिसे देखकर लोग बुरी तरह डर गए. दरअसल इस फिल्‍म से निर्देशक महेश भट्ट बॉलीवुड में एक्टिंग डेब्यू कर रहे है. इस फिल्म को प्रमोट करने के लिए एक यूनिक लेकिन डरा देने वाला तरीका इस्तेमाल किया गया.

 

मुंबई के आदर्श नगर सिग्नल पर एक फिल्मी पोस्टर पर एक आदमी की लाश लटकी हुई नजर आई. इसे देखकर लोग इस कदर डर गए कि वहां पुलिस को बुला लिया गया. जब पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो पता चला कि पोस्टर पर लटकती हुई लाश किसी व्‍यक्ति की नहीं, बल्कि यह एक पुतला था. पुलिस की जांच में पता चला कि ये एक फिल्‍म का पब्लिसिटी स्टंट था. जिसके चलते स्थानीय लोगों के साथ-साथ आने जाने वाले राहगीरों के मन में डर का माहौल बन गया था.

ऐसे में अब पुलिस ने कारवाई करते हुए फिल्‍म के पीआरओ नगमा खान को हिरासत में लेकर पूछताछ करना शुरू कर दिया है. बताया जाता हैं कि लक्ष्य प्रोडक्शन ने अपनी आनेवाली फिल्म 'द डार्क साइड ऑफ लाइफ: मुंबई सिटी' के लिए अपना रोड शो आयोजित किया. इस कार्यक्रम में आदर्श नगर सिग्नल, अंधेरी, मुंबई में फिल्‍म के कलाकारों ने भाग लिया. फिल्‍म के निर्देशक तारिक खान ने सुसाइड घटनाओं की याद दिलाते हुए कहा, "यह मुंबई के लोगों के लिए एक आंख खोलने वाली स्टोरी है, जो मेट्रो शहरों के जीवन की दैनिक हलचल और बिजी लाइफ में सुसाइड घटनाओं से अनजान रहते हैं. जैसे जिया खान और प्रत्‍युषा बनर्जी के जीवन में घटी है.

इस फिल्म की कहानी आत्‍महत्‍या से संबंधित है, जो एक संतुलित दिमाग के किरदार पर आधारित है. फिल्म 23 नवंबर को देश भर के सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है.