रायपुर । छत्तीसगढ़ के अगले भाग्यविधाता के लिए आज हुए दूसरे चरण के 72 सीटों के लिए मतदान में लोगों का जमकर उत्साह दिखा। शाम पांच बजे के बाद भी प्रदेश के सभी विधानसभा के कई बूथों में वोटिंग के लिए लंबी लाईन लगी रही। कई जगहों पर मतदान के लिए पुरूषों से भी अधिक संख्या में महिलाओं ने लाईन में लगकर मतदान किया। आज हुए दूसरे चरण के हुए मतदान में प्रदेश के कद्दावर नेता बृजमोहन अग्रवाल, प्रेमप्रकाश पाण्डेय, अमर अग्रवाल, राजेश मूणत सहित 9 मंत्रियों का भाग्य ईव्हीएम में बंद हो गया। आज हुए इस मतदान से ही तय होगा कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हो रही है या फिर चौथी बार भी भाजपा सरकार बनायेगी। सत्ता परिवर्तन की स्थिति में मुख्यमंत्री के प्रबल दावेदार, भूपेश बघेल, टी एस सिंहदेव, चरणदास महंत एवं ताम्रध्वज साहू है। इनके भाग्य का भी फैसला वोट देकर मतदाताओं ने कर दिया लेकिन इसमें कौन कौन विजयी होगा और किसकी हार होगी यह तो 11 दिसंबर को होने वाले मतगणना के बाद ही पता चलेगा। तब तक  केवल अटकले ही लगाई जा सकती है।  छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के तहत जिन 72 सीटों पर मंगलवार को वोट डाले गये हैं। उनमें से कुछ सीटों पर बीजेपी, कांग्रेस के अलावा जेसीसीजे बीएसपी गठबंधन का भी अच्छी खासा वोट बैंक है।  वहीं टिकट नहीं मिलने के बाद कई बागी भी मैदान में सियासी दलों का समीकरण बिगाडऩे का कार्य किये है। जाहिर है इन सीटों पर सभी पार्टियों ने पूरी ताकत झोंक दी है। 
पिछले चुनाव में ये थी दलगत स्थिति
2013 में इन 72 सीटों के नतीजों पर नजर डालें तो बीजेपी 42 और कांग्रेस 27 सीटों पर विजयी हुई थी। वहीं बीएसपी और निर्दलीय के खाते में 1-1 सीट आई थी। अगर संभागवार आंकड़ों पर नजर डाले तो सरगुजा संभाग की 14 सीटों में बीजेपी और कांग्रेस 7-7 सीटों के साथ बराबरी पर थी। बिलासपुर जोन की बात करें तो कुल 24 सीटों में बीजेपी 12, कांग्रेस 11 और बीएसपी एक सीट पर जीत दर्ज की थी। वहीं रायपुर जोन की 20 सीटों में से बीजेपी के खाते में 15 सीट आई थी। वहीं कांग्रेस महज 4 सीट पर विजयी हुई थी। 1 सीट पर निर्दलीय का कब्जा था। दुर्ग की बात करें तो 20 में से 14 सीटों पर वोटिंग होनी है, जिसमें से पिछले चुनाव में बीजेपी ने 9 जबकि कांग्रेस ने 5 सीटों पर जीत दर्ज की थी। छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के मतदान की बात करें तो 72 विधानसभा सीटों पर वोट डाले गयेे। इसमें सरगुजा संभाग की 14 सीटों, बिलासपुर की 24, रायपुर की 20 सीटों पर मतदान हुआ। इसके अलावा दुर्ग संभाग के 14 सीटों पर प्रत्याशियों के किस्मत का फैसला मतदाताओं ने अपना मत देकर सुरक्षित कर दिया।
 बीजेपी से प्रेमप्रकाश पांडेय, दयालदास बघेल और लाभचंद बाफना समेत कई सियासी दिग्गजों की किस्मत दांव पर लगेगी। वहीं कांग्रेस में भी ताम्रध्वज साहू, अरुण वोरा और देवेंद्र यादव सहित कई दिग्गज नेताओं के भाग्य का फैसला ईवीएम में कैद हो गया।
दुर्ग के दंगल की बात की जाये तो पाटन विधानसभा में बीजेपी के मोतीलाल साहू और कांग्रेस के भूपेश बघेल के बीच सीधी टक्कर है। वहीं दुर्ग ग्रामीण में जागेश्वर साहू और ताम्रध्वज साहू के बीच मुकाबला है। दुर्ग शहर में बीजेपी की ओर से चंद्रिका चंद्राकर मैदान में हैं और कांग्रेस की तरफ से उन्हें अरुण वोरा की चुनौती है।
भिलाईनगर की बात की जाए तो बीजेपी के प्रेमप्रकाश पांडेय और कांग्रेस के देवेंद्र यादव के बीच सीधा मुकाबला है। वैशालीगर विधानसभा सीट मे बीजेपी विद्यारतन भसीन और कांग्रेस के बदरुद्दीन कुरैशी आमने-सामने हैं। अहिवारा में बीजेपी के सांवलाराम डहरे और कांग्रेस के रुद्र गुरू के बीच सियासी भिड़ंत है।
साजा विधानसभा में बीजेपी के लाभचंद बाफना और कांग्रेस के रविंद्र चौबे के बीच सीधी टक्कर है। नवागढ़ की बात करें तो बीजेपी के दयालदास बघेल और कांग्रेस के गुरदयाल बंजारे आमने सामने हैं। इसी तरह बेमेतरा में अवधेश चंदेल और आशीष छाबड़ा में सियासी घमासान है।
इसी तरह रायपुर संभाग में भी कई सीटों पर दिलचस्प मुकाबला है। मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत सहित कई की किस्मत का भी फैसला होना है। रायपुर में कई दिग्गजों की साख दांव पर लगी है। दूसरे चरण में इस जोन के 5 जिलों की 20 सीटों पर मतदान होना है।
जिन सीटों पर सबकी नजरें टिकी हैं। वो है रायपुर दक्षिण विधानसभा सीट जहां से बीजेपी प्रत्याशी बृजमोहन अग्रवाल और कांग्रेस की कन्हैया अग्रवाल के बीच सीधी टक्कर है। रायपुर उत्तर सीट पर बीजेपी के श्रीचंद सुंदरानी और कांग्रेस के कुलदीप सिंह जुनेजा लगातार दूसरी बार आमने-सामने होंगे। वहीं रायपुर पश्चिम में इस बार भी राजेश मूणत और कांग्रेस से विकास उपाध्याय आमने सामने होंगे।
रायपुर ग्रामीण में बीजेपी के टिकट पर एक बार फिर नंदकुमार साहू चुनाव लड़ रहे हैं। उनका मुकाबला कांग्रेस के सत्यनारायण शर्मा से है। आरंग में बीजेपी के संजय ढीढी और कांग्रेस के शिव डहरिया के बीच सीधा मुकाबला है। अभनपुर विधानसभा की बात करें तो पुराने प्रतिद्वंदी धनेंद्र साहू और चंद्रशेखर साहू के बीच एक बार फिर सीधी टक्कर है। इसी तरह आरंग विधानसभा में इस बार पिछला चुनाव लड़े दोनों चेहरे गायब हैं। कांग्रेस से जहां शिव डहरिया मैदान में हैं। 
बिलासपुर की बात करें तो.इस जोन में भी कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर लगी है। पिछले चुनाव में यहां की 24 सीटों पर बीजेपी 12, कांग्रेस 11 और बीएसपी 1 सीट पर है। यहां भी कई दिग्गजों की साख दांव पर लगी है। लेकिन जिन सीटों पर सबकी नजरें हैं वो है बिल्हा सीट यहां त्रिकोणीय मुकाबला है। यहां बीजेपी के धरमलाल कौशिक, कांग्रेस के राजेंद्र शुक्ला और जोगी कांग्रेस के सियाराम कौशिक के बीच कड़ा मुकाबला है। इसी तरह बिलासपुर में बीजेपी के अमर अग्रवाल और कांग्रेस के शैलेष पांडेय आमने-सामने होंगे। कोटा सीट की बात करें तो यहां भी त्रिकोणीय मुकाबला है। यहां बीजेपी के काशी साहू कांग्रेस से रामकुमार यादव और जेसीसीजे के टिकट पर रेणु जोगी में टक्कर है। वहीं मरवाही सीट पर अजीत जोगी एक बार फिर चुनावी ताल ठोक रहे हैें। उनके सामने बीजेपी से अर्चना पोर्ते और कांग्रेस के गुलाब सिंह राज मैदान में हैं। मस्तूरी में बीजेपी के कृष्णमूर्ति बांधी और कांग्रेस के दिलीप लहरिया एक बार फिर आमने सामने होंगे। मुंगेली में बीजेपी के पुन्नूलाल मोहिले और कांग्रेस के राकेश पात्रे में सीधा मुकाबला है। तखतपुर सीट की बात करें तो बीजेपी से जहां हर्षिता पांडेय मैदान में हैं वहीं कांग्रेस ने रश्मि सिंह को टिकट दिया है। बेलतरा सीट में बीजेपी के रजनीश सिंह और कांग्रेस के राजेंद्र कुमार साहू आमने-सामने होंगे।
पिछले चुनाव में भाजपा व कांग्रेस को मिली थी बराबर बराबर सीटे
सरगुजा संभाग की 14 सीटों पर भी फैसला होना है। इस बार बीजेपी के रामसेवक पैकरा और भैयालाल राजवाड़े सहित कई दिग्गजों के सियासी किस्मत का फैसला होना है। वहीं कांग्रेस की बात करें तो नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव की किस्मत भी दांव पर लगी है। सरगुजा संभाग की 14 सीटों पर मतदान हुआ। यहां नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव जबकि बीजेपी से भैयालाल राजवाड़े और रामसेवक पैकरा सहित दो मंत्रियों की किस्मत दांव पर लगी है। 2013 में सरगुजा की 14 सीटों पर दोनों पार्टियां 7-7 सीट के साथ बराबरी पर थी। लेकिन इस बार दोनों राजनीतिक पार्टियां यहां बढ़त लेने के लिए कमर कस चुकी है।
सरगुजा संभाग की सियासत की बात करें तो इस संभाग में अंबिकापुर सीट पर बीजेपी के अनुराग सिंहदेव और कांग्रेस के टीएस सिंहदेव के बीच सीधा मुकाबला है। बैकुंठपुर में भैयालाल रजवाड़े और अंबिका सिंहदेव में सियासी भिड़ंत होगी। रामानुजगंज की बात करें तो बीजेपी के रामकिशुन सिंह का सामना कांग्रेस के दिग्गज बृहस्पत सिंह से है। प्रतापपुर में बीजेपी के रामसेवक पैकरा और कांग्रेस के प्रेमसाय सिंह के बीच मुकाबला है।