भोपाल  । मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा और कांग्रेस द्वारा एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप के साथ साथ छींटाकशी का दौर जारी है। रविवार को पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ पर लगाए गए आरोप के बाद कांग्रेस चुनाव आयोग पहुंची है। कांग्रेस का कहना है कि प्रधानमंत्री द्वारा प्रदेशाध्यक्ष पर लगाया गया आरोप निराधार है, मोदी ने जिस वीडियो का जिक्र अपने भाषण में किया है, वह एडिटेड वीडियो है। 
रविवार को कांग्रेस ने चुनाव आयोग को लिखे अपने पत्र में कहा है कि छिंदवाड़ा की रैली में पीएम मोदी ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का नाम लेते हुए मतदाताओं के सामने झूठ परोसा है। यह आचार संहिता का घोर उल्लंघन है। कमलनाथ ने कभी भी इस तरह की बात नहीं की है। इससे पहले भी एक फेक एडिटेट वीडियो जारी हुआ था जिसकी शिकायत कांग्रेस ने आयोग में की थी। कांग्रेस ने चुनाव आयोग को लिखे पत्र में पूछा कि पीएम किस आधार पर लोगों के सामने इस प्रकार से झूठ फैला रहे हैं। हम आप से पीएम मोदी के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन पर कार्यवाही की मांग करते हैं।   
कांग्रेस ने अपराधियों को टिकट दिया- पीएम मोदी
उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार के लिए गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कांग्रेस और विपक्षी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा। पीएम मोदी ने राहुल गांधी और कांग्रेस नेता कमलनाथ पर हमला बोलते हुए कहा, ''मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कहते हैं कि गुंडा-बदमाश-लुटेरा-चोर कोई भी उम्मीदवार चलेगा बस जीतने वाला चाहिए। मध्य प्रदेश में कांग्रेस के नामदार ने ऐसे लोगों को पसंद कर टिकट दिया है। जिन लोगों ने ऐसे उम्मीदवारों को चुना हो ऐसे लोगों के हाथ में मध्य प्रदेश नहीं जाना चाहिए। पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए बोला कि धोखा करना कांग्रेस पार्टी के स्वभाव में है।