नई दि‍ल्‍ली,  छत्‍तीसगढ़ दौरे के दौरान कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी बीजेपी और खासकर पीएम मोदी पर जमकर हमले कर रहे हैं. शनिवार को सरगुजा में रैली के दौरान राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी किसी भी मंच पर आकर मुझसे 15 मिनट राफेल पर बहस करें.

राहुल यहीं नहीं रुके. उन्होंने यह भी कहा कि मोदी किसी भी प्रदेश में 15 मिनट मेरे साथ खड़े हो जाएं. वे 15 मिनट मुझे बोलने दें और फिर उतनी ही देर वे बोलें.

बता दें कि शुक्रवार को अंबिकापुर में ही चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस को चुनौती देते हुए कहा था कि, 'कांग्रेस वाले कह रहे हैं कि नेहरू की वजह से चायवाला प्रधानमंत्री बना, तो एक बार 5 साल के लिए अपने परिवार के बिना किसी को पार्टी का अध्यक्ष बनाकर दिखा दो.'

मोदी के इस चैलेंज पर पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने शनिवार को एक के बाद एक ट्वीट करते हुए जोरदार जवाब दिया. उन्होंने 15 नाम गिनाए जो कांग्रेस अध्यक्ष बने और गांधी परिवार से बाहर के थे.

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष अपने मध्य प्रदेश दौरे से समय निकालकर अचानक छत्तीसगढ़ के कोरिया और बैकुंठपुर में चुनावी सभाएं करने पहुंच गए. कांग्रेसी उम्मीदवारों के साथ सभास्थल पर पहुंचे राहुल को देखकर वहां मौजूद पार्टी कार्यकर्ता और आम लोग हैरानी में पड़ गए.

राहुल गांधी ने आज कोरिया में चुनावी जनसभा में राज्य की बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछले 15 सालों में राज्य में 2 छत्तीसगढ़ बन गए हैं, एक गरीबों का और दूसरा अमीरों का. हमारी सरकार इसे खत्म करके रहेगी.

वहीं, सरगुजा में उन्‍होंने कहा कि मोदी किसी भी प्रदेश में 15 मिनट मेरे साथ खड़े हो जाएं. 15 मिनट मुझे बोलने दें और 15 मिनट खुद बोलें.

बीजेपी पर लगाए वादाखिलाफी के अारोप

ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे राहुल गांधी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब छत्तीसगढ़ बना, तब आपका सपना था कि यहां की जल, जंगल, जमीन, कोयला, खनिज का फायदा मिलेगा, लेकिन 15 सालों में आपने देखा कि राज्य में दो छत्तीसगढ़ बन गए. एक अमीरों का, सूट-बूट वालों का, बड़े-बड़े उद्योगपतियों का और दूसरा आम जनता का, महिलाओं का, युवाओं का. हमें दो नहीं एक छत्तीसगढ़ चाहिए, और उसमें न्याय चाहिए.

कोरिया जिले के बैकुंठपुर में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी ने फसल का सही दाम देने का वायदा किया था, लेकिन आपको मिलता कितना है. यह केवल छत्तीसगढ़ की हालत नहीं पूरे देश की हालत है. नरेंद्र मोदी की सरकार ने 10 मनरेगा के बराबर 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपए केवल 15 लोगों का कर्जा माफ किया है, लेकिन किसानों का एक रुपया तक माफ नहीं किया.

राहुल गांधी ने ऐसे उद्योगपतियों का नाम गिनाते हुए पीएम मोदी पर हमला किया. उन्होंने रमन सिंह पर भी कटाक्ष करते हुए कहा कि वो दिनभर किसानों की बात करते हैं, लेकिन उन्होंने न केवल आपका बोनस छीना बल्कि कर्जा माफ नहीं किया और फसल का सही दाम भी नहीं दिया.

किसानों को 10 दिन में कर्ज माफी का किया वादा

भाषण के दौरान राहुल गांधी ने किसानों से वादा किया कि राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के 10 दिनों के भीतर उनका कर्जा माफ होगा. उन्होंने कहा, 'नरेंद्र मोदी को मैं छत्तीसगढ़ से जवाब देना चाहता हूं, जैसे ही कांग्रेस की सरकार यहां आएगी, 10 दिन के अंदर सरकार हर किसान का कर्जा माफ कर देगी. यह काम हमने पंजाब में किया, कनार्टक में किया, और सरकार आने पर छत्तीसगढ़ में भी करेंगे. यही नहीं हम बोनस देने के साथ रमन सिंह ने जो दो सालों का बोनस छिना है, उसे भी हम आपको वापस दे देंगे.'

छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण का मतदान 20 को

बता दें कि दूसरे चरण में छत्तीसगढ़ की 72 विधानसभा सीटों पर 20 नवंबर को मतदान होना है. 18 सीटों पर मतदान 12 नवंबर को ही हो चुका है. सभी 90 सीटों पर मतगणना 11 दिसंबर को होगी.

इससे पहले शुक्रवार को राहुल ने एमपी में धुआंधार रैलियां की. राहुल ने एमपी के नौजवानों से वादा किया कि कांग्रेस के सत्ता में आने पर युवाओं को रोजागार, आदिवासियों को उनका हक और किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा. राहुल ने देवरी, सिवनी के बरघाट और मंडला में जनसभाओं केा संबोधित किया.