( दंतेवाड़ा विधानसभा चुनाव - 2018 )
दंतेवाड़ा । छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग का दंतेवाड़ा जिला भारत की सबसे पुरानी बसाहटों में से एक है। समृद्ध इतिहास वाला यह जिला लंबे अर्से तक नक्सलवाद का दंश झेल चुका है। इसका संबंध आदिशक्ति से लेकर भगवान राम तक से हैं। रामायण में वर्णित दंडकारण्य का यह हिस्सा है। इस शहर का नाम इस क्षेत्र की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के नाम से पड़ा। जिले में विधानसभा की एकमात्र सीट है। भाजपा,कांग्रेस और सीपीआइ के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होता रहा है लेकिन दो बार कांग्रेस और बार इस सीट पर भगवा लहराया। 2013 के झीरम नरसंहार में मारे गए कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा इसी सीट से चुनाव लड़ते थे, हालांकि वे 2008 का चुनाव हार गए थे।जिले में भाजपा का राजनीतिक सफर उतार-चढ़ाव भरा रहा। पहले चुनाव में पार्टी कुल मतदान का महज 19 फीसद वोट शेयर हासिल कर पाई थी। पार्टी तीसरे नंबर पर रही। 2008 के चुनाव में भाजपा के खाते में 38 फीसद वोट शेयर के साथ सीट भी आ गई। पिछले चुनाव में पार्टी का वोट शेयर पांच फीसद गिरा और सीट भी हाथ से निकल गई।भाजपा ही नहीं कांग्रेस के लिए भी यह सीट उतनी आसान नहीं रही है। पहले चुनाव में 36 फीसद वोट शेयर हासिल करते हुए कांग्रेस ने सीट पर कब्जा कर लिया था। 2008 के चुनाव में पार्टी न केवल सीट खोया बल्कि सीधे तीसरे नंबर पर चली गई। पार्टी के खाते में केवल 25 फीसद वोट आए। 2013 के चुनाव में झीरम की सहानुभूति ने फिर इस सीट को कांग्रेस की झोली में डाल दिया, पार्टी ने 38 फीसद वोट के साथ जीत दर्ज की। हालांकि, इस सीट पर सिर्फ बीजेपी या कांग्रेस नहीं बल्कि सीपीआई का भी अच्छा जनाधार है। 2008-2003 के चुनावों में सीपीआई यहां दूसरे नंबर की पार्टी बनकर उभरी थी। इस सीट पर आदिवासी वोटों का काफी प्रभाव है।2013 चुनाव में कांग्रेस की देवती वर्मा चुनाव जीती थी उन्होंने भाजपा के भीमराव मांडवी को 5987 वोटो से हराया था। आपको बता दें कि दंतेवाड़ा पहले बस्तर जिले में ही आता था, लेकिन 1998 में ये अलग जिला बना। 2011 की जनगणना के अनुसार, दंतेवाड़ा राज्य की तीसरा सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला है। इस शहर का नाम इस क्षेत्र की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के नाम से पड़ा।

2013 विधानसभा चुनाव, देवती वर्मा, कांग्रेस, कुल वोट मिले 41417, भीमाराम मांडवी, बीजेपी, कुल वोट मिले 35430
2008 विधानसभा चुनाव, भीमाराम मांडवी, बीजेपी, कुल वोट मिले 36813,  मनीष कुंजम, सीपीआई, 24805
 2003 विधानसभा चुनाव, महेंद्र कर्मा, कांग्रेस, कुल वोट मिले 24572, नंदा राम सोरी, सीपीआई, कुल वोट मिले 19637