नई दिल्ली,  छत्तीगसढ़ में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों के लिए सभी दलों ने प्रचार में पूरी ताकत लगा दी है. भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जगदलपुर में रैली को संबोधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत छत्तीसगढ़ी भाषा में की.

PM ने कहा कि भाईदूज के त्योहार के दिन मैं आपसे कुछ मांगने आया हूं. अब तक देश में जितने भी प्रधानमंत्री हुए हैं, उनसे ज्यादा बार मैं अकेला बस्तर आया हूं. जब भी आया हूं खाली हाथ नहीं आया हूं.

PM मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों का कारोबार तेरा-मेरा का था, मैं आज अपनी जिम्मेदारी अदा करने आया हूं. जिम्मेदारी के तहत यहां के लोगों की कठिनाइयों को दूर करना है. प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले की सरकारें मेरे-तेरे के खेल में उलझी रहीं, लेकिन हमारा मकसद सबका साथ सबका विकास है. छत्तीसगढ़ का विकास देख लोगों को आश्चर्य होता है.

'अर्बन नक्सलियों के समर्थन में बोलती है कांग्रेस'

प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले की सरकारें कहती थीं कि नक्सलियों की वजह से यहां का विकास नहीं हो रहा है. लेकिन हमारी सरकार ने सभी मुश्किलों का सामना कर विकास किया. जो अर्बन माओवादी हैं वो शहरों में एसी में रहते हैं और उनके बच्चे विदेशों में पढ़ते हैं, लेकिन वहां बैठे-बैठे आदिवासी बच्चों की जिंदगी बर्बाद करने का काम करते हैं. कांग्रेस पार्टी अर्बन माओवादियों के पक्ष में खड़ी होती है, नक्सलवाद को मुद्दा बनाकर कांग्रेस वोटों की खेती कर रही है.

इधर, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ (जे) बहुजन समाज पार्टी के साथ गठबंधन कर चुनाव मैदान में है जिससे कई सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है. राज्य में वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में 90 सीटों में से 49 सीटों पर भाजपा ने और 39 सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की थी. वहीं एक-एक सीट पर बसपा और निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत हासिल की थी.